कोलकाता, आइएएनएस। भारतीय टीम बांग्लादेश के खिलाफ पहली बार डे-नाइट टेस्ट मैच खेलने उतरेगी। हालांकि, इसमें अभी करीब चार सप्ताह का समय है, लेकिन तैयारियां अभी से शुरू हो गई हैं। बांग्लादेश की टीम भी पहली बार कोलकाता के ईडन गार्डेंस पर भारत के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट मैच का अनुभव हासिल करेगी, लेकिन क्या आप जानते हैं कि भारतीय टीम के सिर्फ दो ही खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्हें पिंक बॉल से डे-नाइट मैचों का अनुभव है। 

लाइट्स के नीचे गुलाबी गेंद से खेलने का अनुभव विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा जैसे दिग्गज भारतीय बल्लेबाजों को नहीं है। हालांकि, भारत की इस 15 सदस्यीय टीम में दो खिलाड़ी हैं जो पिंक बॉल से डे-नाइट मैच खेल चुके हैं। ये खिलाड़ी कोई और नहीं, बल्कि विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा और तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी है जो घरेलू टूर्नामेंट में कोलकाता के इसी मैदान पर अंडर लाइट्स पिंक बॉल से खेल चुके हैं। 

भारत और बांग्लादेश के बीच 22 से 26 नवंबर के बीच होने वाले डे-नाइट टेस्ट मैच के लिए रिद्धिमान साहा को बेसब्री से इंतजार है। इस बारे में उन्होंने ये भी कहा है कि वे इस खास मैच के लिए टीम इंडिया के खिलाड़ियों की मदद करेंगे, क्योंकि किसी के लिए भी गुलाबी गेंद से लाइट्स के नीचे खेलना आसान नहीं होगा। रिद्धिमान साहा ने कहा कि भारतीय खिलाड़ियों के लिए ये नया चैलेंज होगा। 

साहा ने कहा, "यह हमारे सामने एक नई चुनौती है। हमने एक भी टेस्ट मैच पिंक बॉल से नहीं खेला है। मैं कई दिन तक चलने वाले घरेलू टूर्नामेंट में पिंक बॉल से खेल चुका हूं। चुनौती हर खेल का हिस्सा होती है। एक टीम के तौर पर चुनौती स्वीकार करने से आप अच्छे बनते हैं और हम ये अवश्य कर सकते हैं।" बता दें कि 2016 में CAB के सुपर लीग में Mohun Bagan And Bhowanipore Club के लिए साहा और शमी ने डे नाइट मैच पिंक बॉल से खेले थे। 

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप