नई दिल्ली, जेएनएन। वर्ल्ड कप 2019 (World Cup 2019) के फाइनल में इंग्लैंड को विजेता बनाने में ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने बड़ी भूमिका निभाई। उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ इस मैच में 84 रन की पारी खेली और क्रिकेट को जन्म देने वाला देश पहली बार विजेता बन गया। हालांकि, स्टोक्स की इस पारी ने उनके परिवार के लिए अजीब स्थिति पैदा कर दी। गौरतलब है कि स्टोक्स का जन्म न्यूजीलैंड में हुआ था और वे 12 साल की उम्र में इंग्लैंड आ गए थे। उनके माता- पिता आज भी न्यूजीलैंड में रहते हैंं।

इसके बाद उनके पिता गेरार्ड स्टोक्स ने बताया कि वे न्यूजीलैंड की हार से दुखी हैं। उन्होंने कहा कि वे शायद न्यूजीलैंड के सबसे ज्यादा नफरत किये जाने वाला पिता हैं। वे चाहते थे कि न्यूजीलैंड ये वर्ल्ड कप जीते। गेरार्ड ने कहा, 'मैं सच में कीवी टीम के लिए निराश हूं। यह निराशा की बात है कि इतना बेहतरीन खेलने के बावजूद हमें ट्रॉफी के बिना फाइनल से वापस लौटना पड़ेगा। हालांकि, मैं बेन के प्रदर्शन से खुश हूं, लेकिन मैं अभी भी न्यूजीलैंड का समर्थक हूं।'

 

बेन स्टोक्स ने इस मैच में नाबाद रहते हुए 5 चौके और 2 छक्के की मदद से 98 गेंदों में 84 रन बनाए। इससे उन्हें इस मैच में मैन ऑफ द मैच का खिताब मिला। यही नहीं, सुपरओवर में भी जोस बटलर के साथ बल्लेबाजी करने बेन स्टोक्स आए। सुपरओवर में बेन स्टोक्स ने 3 गेंदों में 8 रन बनाए, जिसमें एक चौका भी शामिल था। हालांकि, सुपर ओवर में भी मैच टाई रहा, लेकिन बाउंड्री के आधार पर जीत मिल गई। 

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस