नई दिल्ली, जेएनएन। इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप से पहले अब भारतीय टीम को सिर्फ पांच वनडे मैच और खेलने हैं और अब तक टीम इंडिया के नंबर चार मसला सुलझा हुआ नजर नहीं आ रहा है। शास्त्री ने कहा था कि विश्व कप में कप्तान विराट नंबर चार पर बल्लेबाजी कर सकते हैं लेकिन गावस्कर उनके इस बयान से सहमत नहीं हैं। ये सबको पता है कि विराट अब तक वनडे में नंबर तीन पर ही बल्लेबाजी करते आए हैं और उन्होंने अपनी सारी सफलताएं इसी नंबर पर हासिल की है चाहे वो भारत हो या फिर दुनिया का कोई अन्य देश। 

अब गावस्कर ने कहा कि दुनिया के इस बेस्ट बल्लेबाज को किसी भी तरह के प्रोटेक्शन की जरूरत नहीं है। हालांकि सनी ने ये जरूर कहा कि विशेष परिस्थिति में विराट नंबर चार पर बल्लेबाजी कर सकते हैं। पर सच तो ये है कि उन्हें किसी प्रोटेक्शन की जरूरत नहीं है, लेकिन कभी-कभी आपको हालात का आकलन करते हुए फैसला करना पड़ता है। 

गावस्कर ने कहा कि इंग्लैंड में तेज गेंदबाजों को हवा में ज्यादा सीम और स्विंग मिल सकती है और अगर विरोधी टीम ने 350 या उससे ज्यादा का स्कोर बना दिया और फिर भारत शुरुआत में ही अपना पहला विकेट गंवा देता है तो ऐसी हालत में विराट को नंबर चार पर बल्लेबाजी को लिए भेजा जा सकता है। सनी ने टीम इंडिया को सलाह देते हुए कहा कि जब इंग्लैंड में गेंद स्विंग होती है तो भारतीय टीम को तीसरे ओपनर के तौर पर तकनीकी रूप से बेहद मजबूत बल्लेबाज को चुनना चाहिए। 

वहीं शास्त्री ने अपने एक बयान में कहा था कि टीम के लिए अच्छी बात ये है कि हालात के मुताबिक भारतीय टीम के टॉप तीन बल्लेबाजों को अलग किया जा सकता है। नंबर तीन पर किसी और को मौका देकर बल्लेबाजी में ज्यादा संतुलन लाया जा सकता है। विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंट के लिए लचीलापन होना टीम मैनेजमेंट के लिए अच्छी बात है। हम इंग्लैंड में वैसे परिस्थिति के हिसाल के फैसला करेंगे। 

वैसे भारतीय टीम में नंबर चार की समस्या खत्म हो गई थी ऐसा तब माना जा रहा था जब अंबाती रायडू इस क्रम पर आकर बल्लेबाजी कर रहे थे और रन भी बना रहे थे। एडिलेड में भी उन्होंने 90 रन की पारी खेलकर खुद को इस नंबर के लिए सही बल्लेबाज साबित किया था। पर एक बार फिर से इस तरह के बयानों से ऐसा लग रहा है कि भारतीय टीम नंबर चार को लेकर समस्या में है। विश्व कप से पहले अब तक ये साफ नहीं हो पाया है कि नंबर चार पर विराट, धौनी या फिर अंबाती बल्लेबाजी के लिए आएंगे। यानी एक बात तो साफ है कि इस नंबर पर अब विश्व कप में भी टीम मैनेजमेंट परिस्थिति के हिसाब से ही बल्लेबाजों को बल्लेबाजी के लिए भेजेगी। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप