नई दिल्ली। दक्षिण अफ्रीका के प्रमुख कोच रसेल डोमिंगो ने कहा कि आगामी सीरीज में स्पिन के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए हम अपने तेज गेंबदाजों पर निर्भर रहेंगे।

दक्षिण अफ्रीका के पास इमरान ताहिर, डान पीड्ट औश्र सिमोन हार्मर के रूप में तीन विशेषज्ञ स्पिनर हैं, लेकिन डेल स्टेन और मोर्ने मोर्केल हमेशा टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करते हैं।

डोमिंगो ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा- हमें पता हैं कि स्पिनर्स के खिलाफ भारतीय खिलाड़ी शानदार खेलते हैं। जब भी दक्षिण अफ्रीका ने भारत का दौरा किया है तब हमारे तेज गेंदबाज हमेशा सफल रहे हैं। हालांकि इस सीरीज में स्पिन बहुत बड़ा रोल अदा करेगी, लेकिन यह महत्वपूर्ण हैं कि हमारे तेज गेंदबाज अच्छी शुरुआत दिलाए।

उन्होंने आगे कहा कि हमारे पास इमरान ताहिर के रूप में अनुभवी और डान पीड्ट व सिमोन हार्मर के रूप में युवा स्पिनर मौजूद हैं। इनके लिए दबाव की परिस्थिति में भारतीय खिलाडि़यों के खिलाफ खेलने का शानदार अनुभव होगा। मगर मेरा यही मानना है कि हमारी ताकत तेज गेंदबाजी हैं और मुझे उम्मीद हैं कि इन परिस्थितियों में भी वह शानदार प्रदर्शन करेंगे।

वर्ल्ड टी-20 लक्ष्य

स्टेन और मोर्केल को टी-20 सीरीज में शामिल नहीं किया गया, लेकिन डोमिंगो ने कहा है कि अगले साल भारत में होने वाले टी-20 विश्व कप के लिए दोनों गेंदबाज शामिल हैं। कोच ने कहा कि बिलकुल दोनों गेंदबाज हमारी योजना में शामिल हैं। यह एक बड़ा दौरा है इसलिए हमने फैसला किया है कि अपने गेंदबाजों को आराम भी दे। डेल और मोर्ने के लिए 75 दिन तक यहां रहना मुश्किल होता। इसलिए उनसे वन-डे और टेस्ट खेलने की उम्मीद की जा रही है।

उन्होंने आगे कहा कि दोनों गेंदबाजों को नहीं शामिल करने से अगली पंक्ति के तेज गेंदबाजों को परखने का मौका मिल जाएगा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप