इंदौर (जेएनएन)। भारत और न्यूजीलैंड के बीच जारी आखिरी टेस्ट मैच के दूसरे दिन उस वक्त कीवी तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट भारतीय ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा के जूतों से घायल होते-होते बचे। जडेजा रन लेने के लिए दौड़ रहे थे कि बोल्ट उनके रास्ते में आ गए, हालांकि जडेजा ने बोल्ट के ऊपर से छलांग लगाई, जिसके बाद दोनों के बीच टक्कर होने से बच गई।

अगर इन दोनों खिलाड़ियों की टक्कर हो जाती या इनके बीच कुछ इंच का फासला भी कम रह जाता तो बोल्ट गंभीर रूप से घायल हो सकते थे। बता दें कि खिलाड़ियों के जूते के नीचे स्पाइक (कीलें) लगी होती है, ताकि वे मैदान पर न फिसलें। राहत की बात ये रही कि इस हादसे में कोई भी खिलाड़ी चोटिल नहीं हुआ।

पिच को नुकसान पहुंचाने के लिए लगा जुर्माना

बोल्ट तो इस मामले में बच गए,लेकिन भारतीय स्पिनर रवींद्र जडेजा पर मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना लगाया है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (आइसीसी) ने अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान पिच को नुकसान पहुंचाने के चलते उन पर जुर्माना लगाया है।

इंदौर टेस्ट में जडेजा को अंपायर ब्रूस ऑक्सनफॉर्ड ने पिच के बीच में दौड़ने पर उन्हें फटकार भी लगाई। इसके चलते भारत पर पांच रन की पेनल्टी भी लगाई गई और न्यूजीलैंड के स्कोर में इन्हें जोड़ा गया। आइसीसी की ओर से जारी बयान में कहा गया, ”जडेजा ने दो बार अनाधिकारिक और एक बार आधिकारिक चेतावनी मिलने के बाद चौथी बार भी सुरक्षित हिस्से में गए और इसे नुकसान पहुंचाया।” आचार संहिता में बदलाव के तहत उन पर तीन डीमैरिट पॉइंट भी लगाए गए। यदि उन्हें दो साल के अंदर एक और डीमैरिट पॉइंट मिला तो उन पर एक टेस्ट या दो वनडे या दो टी20 या जो भी पहले हो उसके लिए सस्पेंड किया जा सकता है।


क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Mohit Tanwar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस