नागपुर, एएफपी। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) से अब खिलाड़ियों को कमाई में ज्यादा हिस्सा देने की मांग की है। अधिकारियों के मुताबिक इसी सप्ताह कोहली ने बोर्ड की कमाई में खिलाड़ियों की हिस्सेदारी को बढ़ाए जाने की मांग की। 

टीम इंडिया के शीर्ष खिलाड़ियों की सालाना कमाई इस साल दोगुने इजाफे के साथ तीन लाख डॉलर (करीब 20 करोड़ रुपये) रुपये तक हो गई है।

हालांकि, शुक्रवार को दिल्ली में बीसीसीआइ के साथ होने वाली टीम की बैठक के दौरान खिलाड़ियों की ओर से इसमें इजाफे का मुद्दा उठ सकता है। बोर्ड ने सितंबर में टेलीविजन प्रसारण अधिकारों को लेकर बड़ा करार किया है। मीडिया मुगल कहे जाने वाले रूपर्ट मर्डोक के स्टार इंडिया चैनल के साथ 2018 से लेकर 2022 तक के आइपीएल को दिखाने का करार बीसीसीआइ ने किया है। 

इसके तहत चैनल की ओर से बीसीसीआइ को 2.5 अरब डॉलर (करीब 16. हजार करोड़ रुपये) की रकम मिलेगी। भारतीय खिलाड़ियों का अनुबंध 30 सितंबर को समाप्त हो चुका है। ऐसे में नए अनुबंध में खिलाड़ियों की ओर से वेतन और भत्तों में इजाफे का दबाव डाला जा सकता है। 

एक सीनियर बोर्ड अधिकारी ने कहा कि खिलाड़ी अपने वेतन में इजाफा चाहते हैं और कप्तान कोहली समेत पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी और कोच रवि शास्त्री बोर्ड के समक्ष यह मुद्दा उठा सकते हैं। तीनों बीसीसीआइ के प्रशासक विनोद राय से मुलाकात कर वेतन और कड़े कार्यक्रम को लेकर बातचीत करेंगे। 

सुप्रीम कोर्ट की ओर से बीसीसीआइ के संचालन के लिए गठित की गई प्रशासकों की समिति के मुखिया विनोद राय हैं, जो वेतन के मुद्दे पर कोहली, धौनी और शास्त्री से मशवरा करेंगे। फिलहाल भारतीय टीम का वेतन ग्रेड तीन हिस्सों में विभाजित है। विनोद राय ने कहा, 'हमने इसमें बदलाव किया है और खिलाड़ियों से बातचीत करनी शुरू कर दी है।'

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Bharat Singh