बेंगलुरु, पीटीआइ। अफगानिस्तान के खिलाफ ऐतिहासिक टेस्ट मैच में भले ही विराट कोहली नहीं खेल रहे हैं लेकिन भारत के नियमित कप्तान बीसीसीआइ के सालाना पुरस्कार समारोह में आकर्षण का केंद्र रहे जिन्हें लगातार दो सत्र के लिए पॉली उमरीगर ट्रॉफी (वर्ष के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर) प्रदान की गई। कोहली को ये अवॉर्ड चौथी बार मिला है और वो इस सम्मान को चार बार पाने वाले पहले खिलाड़ी हैं। 

चौथी बार इस सम्मान से नवाज़े जाने वाले कोहली के लिए इस बार का ये अवॉर्ड पहली तीन बार के मुकाबले बेहद खास रहा। क्योंकि टीम इंडिया के कप्तान को इस बार ये अवार्ड उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा के सामने मिला।शानदार फॉर्म में चल रहे कोहली ने 2016-17 और 2017-18 में जबर्दस्त प्रदर्शन किया। वह फिलहाल आइपीएल के दौरान गर्दन में लगी चोट का उपचार करा रहे हैं जिसकी वजह से वह सरे के लिए काउंटी क्रिकेट भी नहीं खेल सके। कोहली 15 जून को एनसीए में फिटनेस टेस्ट देंगे। पुरस्कार समारोह में अफगानिस्तान की राष्ट्रीय टीम भी मौजूद थी जो गुरुवार से भारत के खिलाफ पहला टेस्ट खेलेगी।

इस अवार्ड शो में पिछले जमाने और मौजूदा पीढ़ी के भारतीय क्रिकेटर एक ही छत के नीचे मौजूद थे। अंशुमन गायकवाड़ और सुधा शाह को सीके नायडू लाइफटाइम अचीवमेंट सम्मान दिया गया। जलज सक्सेना और परवेज रसूल को घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छे प्रदर्शन का पुरस्कार मिला। जलज और रसूल को रणजी ट्रॉफी में सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर और क्रुणाल पांड्या को विजय हजारे वनडे चैंपियनशिप में उनके प्रदर्शन के लिए पुरस्कार मिले। पांड्या भारत-ए के साथ दौरे पर होने के कारण पुरस्कार लेने के लिए मौजूद नहीं थे।

अन्य मुख्य पुरस्कारों में सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर स्मृति मंधाना को चुना गया। वहीं, मयंक अग्रवाल (माधवराव सिंधिया), आर्यमान बिरला (एमए चिंदबरम ट्रॉफी- सर्वाधिक स्कोरर), दिल्ली के तेजस बरोका (एमए चिंदबरम ट्रॉफी-सर्वाधिक विकेट ), दीप्ति शर्मा (जगमोहन डालमिया ट्रॉफी- सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर), दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (घरेलू टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन) को भी अवार्ड मिला।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal