नई दिल्ली, जेएनएन। श्रीलंकाई अंपायर कुमार धर्मसेना को वर्ल्ड कप के फाइनल के एक ओवरथ्रो के चलते काफी आलोचना का शिकार होना पड़ा। दिग्गज अंपायर कुमार धर्मसेना ने इंग्लैंड को 1 रन एक्स्ट्रा दे दिया। बेन स्टोक्स ने दूसरा रन दौड़कर पूरा किया और थ्रो वाली गेंद बल्ले से लगकर बाउंड्री के पार चली गई। इस तरह नियम के अनुसार 5 रन होने थे, लेकिन अंपायर ने 6 रन दे दिए और मैच का नतीजा बदल गया।  

कुमार धर्मसेना के इस फैसले के बाद मैच का नतीजा आगे चलकर टाई पर खत्म हुआ। इसके बाद हुआ सुपरओवर भी टाई रहा, जो न्यूजीलैंड के लिए घातक साबित हुआ क्योंकि टीम बाउंड्री काउंट के आधार पर पीछे रह गई और वर्ल्ड कप जैसे फाइनल को हार गई।

वर्ल्ड कप फाइनल के कुछ ही घंटे बाद ये खबर मीडिया में छाई रही कि बेन स्टोक्स ने अंपायर से ओवरथ्रो के रन नहीं देने की अपील की थी, जिसके बारे में जेम्स एंडरसन ने खुलासा किया था। लेकिन, अब खुद फील्ड अंपायर कुमार धर्मसेना ने इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स की पोल खोल दी है।  

हार ही में ओवरथ्रो के फैसले वाली गलती को स्वीकार करने वाले अंपायर कुमार धर्मसेना ने न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन से माफी भी मांगी। इसके बाद अंपायर कुमार धर्मसेना ने ब्रिटिश मीडिया की उन खबरों को भी झूठा बताया है, जिसमें कहा जा रहा था कि बेन स्टोक्स ने एक्स्ट्रा रन की मांग नहीं की थी। 

कुमार धर्मसेना ने कहा है, "मैंने निर्णायक फैसला साथी अंपायर मरेस इरामस से बात करके लिया था। मैं 100 फीसदी आश्वस्त था कि बल्लेबाजों ने एकदूसरे को क्रास कर लिया है, जैसा कि क्रीज में पहुंचते समय लगा। लेकिन, ऐसा नहीं है कि बेन स्टोक्स ने एक्स्ट्रा रन देने के लिए उनसे मना किया था। ये सरासर गलत है बेन स्टोक्स ने ऐसा कुछ भी नहीं बोला था।"

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप