अशोक नीर, अमृतसर। क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर के साथ बीएमडब्लयू की ड्राइविंग करना और उनके साथ खाना खाना किसी सुनहरे सपने के सच होने के समान है। सचिन इतने विनम्र हैं कि वह उनसे इतनी जल्द घुलमिल गए कि मानों उन्हें बरसों से जानते हों। यह कहना है अमृतसर के रानी का बाग निवासी विशाल चौहान है।

विशाल का कहना था कि क्रिकेट के भगवान के नाम से जाने जाते सचिन तेंदुलकर के साथ हाथ मिलाना ही बहुत होता है। लेकिन उन्होंने तो दो दिन सचिन के साथ बिताए। यह किसी सपने के सच होने जैसा था। विशाल ने सचिन के साथ जर्मन के एक शहर माइसच में दो दिन बीएमडब्लयू की ड्राइविंग की। विशाल चौहान ने 16 से 18 जुलाई तक जर्मन के इस शहर में सचिन के साथ बीएमडब्लयू की नई गाड़ी 'वन-सीरीज' की ड्राइविंग का लुत्फ उठाया। सचिन के साथ सुबह की सैर की। ब्रेक फास्ट, लंच व डिनर इकट्ठे किया। इन दो दिनों में सचिन के जीवन की कई बातों को समझने का मौका मिला। सचिन बहुत ही विनम्र हैं। सचिन ने अपने मोबाइल से उनकी फोटो भी खींची। ड्राइविंग के दौरान जब वह सचिन को अपने साथ बिठाए हुए थे। तब ऐसा अहसास हो रहा था कि वह क्रिकेट के मैदान में उनके साथ बैटिंग कर रहे हैं।

रफ्तार के भी बादशाह हैं सचिन

विशाल चौहान ने कहा कि सचिन क्रिकेट के बादशाह तो हैं ही साथ ही रफ्तार के भी मास्टर हैं। उन्हें रफ्तार पसंद है। उनकी रफ्तार पसंदगी का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उन्होंने एक बार भारत के सबसे तेज गति से गाड़ी चलाने वाले अनमोल से तीन सेकेंड पहले ही बीएमडब्लयू गाड़ी को निर्धारित स्थान पर पहुंचा दिया था।

ऐसे हुआ विशाल का सेलेक्शन

विशाल ने बताया कि बीएमडब्लयू में उनकी सिलेक्शन एक घटना ही थी। बकौल विशाल वह नई गाड़ी के लिए इंटरनेट पर सर्च कर रहे थे। इसी दौरान वह बीएमडब्लयू के पेज पर आकर रुक गए। कंपनी अपनी नई गाड़ी लांच कर रही थी। वहां पर एक प्रोफार्मा था। जिसको उन्होंने भरा। इसी बीच इंटरनेट के माध्यम से उन्हें बीएमडब्लयू ने कुछ सवाल किए, जिसका उन्होंने जवाब दे दिया। कंपनी ने अपनी नई गाड़ी के बारे में जानकारी देने के लिए उत्तर भारत से सिर्फ उनका चुनाव किया। विशाल ने बताया कि सचिन बीएमडब्लयू के ब्रांड एंबेसडर हैं। विशाल ने बताया कि गाड़ी की टेस्ट ड्राइविंग से भारत से आए दस प्रतिभागियों जिसमें सचिन तेंदुलकर भी शामिल थे, को बीएमडब्लयू ने ट्रेनिंग दी।

मजाक में बोले, फिर तो रायल्टी मिलनी चाहिए

सचिन के गले में सोने की एक चेन रहती है। जिसे अमृतसर के ज्वैलर सचिन चेन कहते हैं। यह बात उन्होंने सचिन को बताई। इस पर सचिन मजाकिया लहजे में बोले, जब उनके नाम की चेन बिक रही है तो उन्हें रायलटी मिलनी चाहिए। इसके अलावा सचिन ने अपने हाथ में एक ब्रेसलेट पहना होता है। इसके बारे में सचिन ने बताया कि यह उनकी मंगनी का ब्रेसलेट है। जिसे वह बहुत पसंद करते हैं।

नानवेज लेते हैं सचिन

सचिन खाने में ज्यादातर नान वेज लेते हैं। सचिन की पत्नी डा. अंजलि भी डिनर में उपस्थित हो जाती थी। अंजलि ने कहा था कि मोहाली में जब मैच चल रहे थे तब वह श्री हरिमंदिर साहिब में माथा टेकने आई थी। सचिन ने भी इच्छा जताई कि वह श्री हरिमंदिर साहिब में माथा टेकने जल्द ही आएंगे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस