नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। India vs West Indies 1st T20I: हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में भारत और वेस्टइंडीज के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज का पहला मुकाबला 6 दिसंबर को खेला जाएगा। इस मुकाबले के लिए टीम इंडिया के लगभग सभी खिलाड़ी हैदराबाद पहुंच चुके हैं। खिलाड़ियों ने अभ्यास सत्र भी शुरू कर दिया है। रन स्पीड बढ़ाने वाले पहले अभ्यास में रोहित सबसे पीछे रह गए। 

भारतीय खिलाड़ियों ने टीम के ट्रेनर के साथ मिलकर एक नई तकनीक के सहारे रनिंग स्पीड बढ़ाने की कोशिश की है। दरअसल, भारतीय क्रिकेट टीम समय-समय अपने अभ्यास में बदलाव करती रहती है। इसी कड़ी में रन स्पीड बढ़ाने के लिए नई तकनीक की मदद ली जा रही है। यही कारण है कि दबाव का सामना करने के साथ-साथ खिलाड़ियों की 'रनिंग स्पीड' बढ़ाने के लिए एक नई मजेदार कवायद शुरू की गई है, जो खिलाड़ियों को पसंद आ रही है। 

कुछ इस तरह से किया जा रहा है अभ्यास

वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन टी-20 मैचों की सीरीज से पूर्व टीम के पहले अभ्यास सत्र के दौरान बुधवार को हैदराबाद में भारतीय खिलाड़ियों को दो कतार में एक-दूसरे के पीछे खड़ा किया गया। इसमें वे एक साथ सामान्य रूप से छोटी दूरी को तेजी से दौड़कर पूरी करने का अभ्यास कर रहे थे। अभ्यास का नया तरीका यह है कि पहली कतार में खड़े खिलाड़ी अपनी शॉ‌र्ट्स में रुमाल डाल लेते थे और दूसरी कतार में खड़े खिलाड़ी उसे निकालने के लिए उनके पीछे भागते थे।

क्या कहते हैं सीनियर ट्रेनर

भारतीय टीम के नए फिटनेस कोच (ट्रेनर) निक वेब ने यह अभ्यास शुरू किया है, जिससे खिलाड़ियों की रफ्तार भी बढ़ेगी और वे दवाब का सामना भी कर सकेंगे। आइपीएल टीम के एक सीनियर ट्रेनर ने कहा, "खिलाड़ी या तो किसी का पीछा करते हैं या कोई उनका पीछा करता है। इस अभ्यास का आशय रफ्तार बढ़ाना और प्रतिस्पर्धा के जरिये अभ्यास का माहौल तैयार करना है। कुल मिलाकर यह सीरीज में बेहतर अंजाम हासिल करने का एक मंत्र है।"

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस