नई दिल्ली, जेएनएन। ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच दुबई में खेले गए दूसरे टी-20 मैच के दौरान हुए एक रन आउट के फैसले को लेकर विवाद खड़ा हो गया। इस मैच में पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया को 11 रन से हराते हुए तीन मैचों की टी-20 सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल की।

148 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई पारी के तीसरे ओवर के दौरान जब डि आर्ची शॉर्ट दूसरे छोर पर मौजूद थे तो एरोन फिंच का एक शॉट इमाद वसीम के हाथों से टकराकर विकेट से जा लगा और पाकिस्तान ने रन आउट की अपील कर दी। रिप्ले में यह साफ नहीं हो पाया कि जब गेंद विकेट से टकराई तो आर्ची शॉर्ट क्रीज के अंदर थे या बाहर। लेकिन थर्ड अंपायर ने उन्हें रन आउट दे दिया और उनके इस फैसले से फिंच और शॉर्ट दोनों हतप्रभ रह गए। इसके बाद फिंच को मैदानी अंपायरों से फैसले के बारे में बातचीत करते देखा गया लेकिन थर्ड अंपायर का ही फैसला कायम रहा और शॉर्ट दो रन बनाकर रन आउट हो गए।

मैच के बाद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी इस बात पर अड़े थे कि शॉर्ट को आउट नहीं दिया जाना चाहिए था। ग्लेन मैक्सवेल ने कहा कि एक टीम के तौर पर हमारा स्पष्ट रूप से ये मत था कि बैट लाइन के अंदर और जमीन पर था। जैसा कि हमने शायद चेंज रूम में देखा, इस बात को लेकर कोई संदेह नहीं था। शायद तीसरे अंपायर ने गलत बटन दबा दिया होगा। हम सब गलतियां करते हैं।

वहीं, पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद ने इस विवाद पर हैरानी जताई और उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि इस पर इतनी बातें क्यों की जा रही हैं, जबकि वह स्पष्ट रूप से आउट थे। बैट जमीन पर नहीं था। मैक्सवेल ने इस मैच में 37 गेंदों में 52 रन की पारी खेली लेकिन वह आखिरी ओवर में जरूरी 23 रन नहीं बना पाए और ऑस्ट्रेलियाई टीम 20 ओवर में आठ विकेट पर 136 रन बनाते हुए मैच और सीरीज हार गई।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप