नई दिल्ली, जेएनएन। बीसीसीआइ चुनाव प्रक्रिया शुरू होने के बाद एमएसके प्रसाद की अगुआई वाली तीन सदस्यीय चयनसमिति का कार्यकाल बढ़ने की संभावना नहीं है। 1मुख्य न्यायधीश दीपक मिश्र की अगुआई वाली सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने गुरुवार को सीनियर, जूनियर और महिलाओं के लिए फिर से पांच सदस्यीय चयनसमिति के पुराने ढांचे को अपनाने का फैसला दिया। 

नई शर्तो के अनुसार सात टेस्ट या 10 वनडे या 30 प्रथम श्रेणी मैच खेलने वाला क्रिकेटर भी चयनकर्ता बन सकता है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश में कहा गया है कि प्रसाद, उनके साथी सरनदीप सिंह और देवांग गांधी का कार्यकाल नहीं बढ़ाया जाएगा। नया चयन पैनल पांच सदस्यीय होगा। शीर्ष अदालत के आदेश में कहा गया है कि बीसीसीआइ के चुनाव होने तक सीओए को सीएसी से परामर्श करके नई चयनसमिति का गठन करने का अधिकार होगा

सुप्रीम कोर्ट के आदेश में साफ कहा गया है कि एमके प्रसाद और उनके साथी शरणदीप सिंह और देवांग गांधी का कार्यकाल नहीं बढ़ाया जाएगा। इसके अलावा क्रिकेट सलाहकार समिति नई चयन समिति के गठन में भूमिका निभाएगी। आपको बता दें कि जो नया पैनल होगा उसमें 5 सदस्य होंगे।  शीर्ष अदालत के आदेश में कहा गया है, जब तक बीसीसीआइ के चुनाव नहीं हो जाते सीओए को क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) जिसमें नामी पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं, से सलाह करके नई चयनसमिति का गठन करने का अधिकार होगा।

 

Posted By: Lakshya Sharma