नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। आईसीसी टी-20 वर्ल्डकप की शुरुआत अक्टूबर में होगी। 16 अक्टूबर को टूर्नामेंट का पहला मैच खेला जाएगा। 13 नवंबर को फाइनल मुकाबला होगा। वहीं, टूर्नामेंट शुरू होने में एक महीन से भी कम वक्त बाकी है और भारतीय टीम अभी भी बिखरी हुई नजर आ रही है। भारतीय टीम एशिया कप में खराब प्रदर्शन करने के बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जा रहे तीन मैचों की टी20 सीरीज का पहला मुकाबला गंवा चुकी है।

टीम इंडिया के सामने फिलहाल विश्वकप के लिए बेस्ट प्लेइंग 11 को चुनने की सबसे बड़ी चुनौती है। विकेटकीपर की बात करें तो टीम मैनेजमेंट अभी भी ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक के बीच असमंजस की स्थिति में फंसी हुई है। एशिया कप में ऋषभ पंत को मौका मिला तो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए पहले मुकाबले में कार्तिक को प्लेइंग 11 में बतौर विकेटकीपर जगह दी गई।

प्लेइंग 11 के साथ की जा रही है काफी छेड़छाड़

बता दें कि साल 2021 टी20 विश्वकप में मिली करारी हार के बाद भारतीय टीम के कप्तान और हेड कोच दोनों के बदल दिया गया। हालांकि परेशानी अभी भी दूर नहीं हुई है। गौरतलब है कि पिछले कई मुकाबलों से प्लेइंग 11 के साथ काफी छेड़छाड़ की जा रही है। अलग-अलग मुकाबलों में अलग-अलग प्लेइंग 11 को मैदान में उतारने की रणनीति भारतीय टीम के लिए ज्यादा कारगर नहीं रही है। बल्लेबाजी की बात करें तो टॅाप-4 के अलावा भारत की मध्यक्रम बल्लेबाजी में स्थिरता दिखाई नहीं देती।

भारत की टीम बिखरी हुई है: रितिंदर सिंह सोढ़ी

न्यूज 18 क्रिकेटनेक्स्ट के साथ एक खास बातचीत के दौरान भारत के पूर्व क्रिकेटर रितिंदर सिंह सोढ़ी (Reetinder Singh Sodhi) ने भारतीय टीम की मौजूदा स्थिति को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि टी20 विश्वकप से पहले रोहित शर्मा की अगुवाई वाली भारतीय टीम को हर क्षेत्र यानी बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फिल्डिंग में खुद को मजबूत बनाने की जरुरत है ताकि टूर्नामेंट के बीच टीम कमजोर दिखाई न दे। उन्होंने आगे कहा कि इस बात को नकारा नहीं जा सकता है कि इस समय भारतीय टीम कई परेशानियों से जूझ रही है।

उन्होंने आगे कहा,'हमें उम्मीद थी कि एशिया कप में भारतीय टीम अच्छा प्रदर्शन करेगी लेकिन टीम ने हमें निराश किया। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए पहले टी20 मैच में भारत के गेंदबाजी काफी कमजोर दिखी। एशिया कप के दौरान भारतीय टीम के बल्लेबाज जबरदस्त फॅार्म में नहीं दिखे थे। वहीं, मध्यमक्रम बल्लेबाजी भारत के एक पेरशानी का सबब बन चुकी थी।' रितिंदर सिंह सोढ़ी ने उम्मीद जताई है कि जसप्रीत बुमराह की वापसी से टीम की गेंदबाजी मजबूत होगी।

टी20 विश्वकप में इन  खिलाड़ियों पर रहेगी नजर

उन्होंने कहा,'अगर टीम को अच्छा करना है तो सिर्फ एक गेंदबाज पर सारा दारोमदार नहीं दिया जा सकता। गेंदबाजी में स्पिनर और तेंज गेंदबाज दोनों को बेहतर प्रदर्शन करना होगा। गौरतलब है कि रितिंदर सिंह सोढ़ी ने कहा कि अगर भारतीय टीम को इस बार टी20 विश्वकप 2022 की ट्रॅाफी उठानी है तो इन चार खिलाड़ियों को बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा। रितिंदर सिंह सोढ़ी ने भारतीय कप्तान रोहित शर्मा, भारतीय पूर्व कप्तान विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह और यजुवेंद्र चहल का नाम लिया है।

यह भी पढ़ें: जसप्रीत बुमराह और शाहीन शाह अफरीदी में कौन है ज्यादा खतरनाक? ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ने दिया जवाब

Edited By: Piyush Kumar