दुबई, प्रेट्र। लगातार दो जीत से उत्साह से ओतप्रोत पाकिस्तान के मजबूत गेंदबाजी आक्रमण के सामने अफगानिस्तान के प्रभावशाली बल्लेबाजों के कौशल और परिपक्वता की टी-20 विश्व कप के सुपर-12 के ग्रुप-दो में शक्रवार को यहां होने वाले मैच में कड़ी परीक्षा होगी।

भारत और न्यूजीलैंड पर जीत से पाकिस्तान का मनोबल बढ़ा हुआ है लेकिन उसके प्रदर्शन में एकदम से बदलाव देखने को मिलता रहा है जिसका अफगानिस्तान फायदा उठा सकता है। बाबर आजम की अगुआई वाली टीम निश्चित तौर पर मैच में जीत के दावेदार के रूप में शुरुआत करेगी लेकिन अफगानिस्तान की टीम को हल्के से नहीं लिया जा सकता है। करारे शाट लगाने वाले बल्लेबाजों और विश्वस्तरीय स्पिनरों की मौजूदगी में वह किसी भी टीम को चुनौती देने में सक्षम हैं।

अफगानिस्तान के बल्लेबाजों ने अपने ताकतवर शाट के दम पर पिछले मैच में स्काटलैंड के गेंदबाजों पर दबदबा बनाया था लेकिन अब उसका सामना ऐसे आक्रमण से है जिसे प्रतियोगिता में सबसे खतरनाक माना जा रहा है। पाकिस्तान के गेंदबाजों के सामने अफगानिस्तान के बल्लेबाज खराब शाट नहीं खेल सकते हैं बल्कि उन्हें संभलकर बल्लेबाजी करनी होगी। अगर हज़रतुल्लाह ज़ज़ई, रहमानुल्ला गुरबाज और नजीबुल्लाह जादरान मैदान के चारों तरफ शाट लगाने में माहिर हैं तो राशिद खान और मुजीब-उर रहमान जैसे विश्वस्तरीय स्पिनर अफगानिस्तान को एक बेहद संतुलित टीम बनाते हैं।

अफगानिस्तान के लिए टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करना सबसे अच्छा विकल्प होगा क्योंकि राशिद और मुजीब विश्व के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों पर भी अंकुश लगाने की क्षमता रखते हैं। इसके बाद बल्लेबाज परिस्थितियों के अनुसार रणनीति बना सकते हैं। उनमें जज्बे की कमी नहीं है लेकिन उन्हें बड़े मैचों का दबाव झेलने का अनुभव नहीं है। जिस तरह से शाहीन शाह अफरीदी, हसन अली और हैरिस राऊफ ने अब तक बल्लेबाजों को परेशान किया है उसे देखकर कहा जा सकता है कि पाकिस्तान की तेज गेंदबाजी की इस तिकड़ी के सामने अफगानिस्तान के बल्लेबाजों की कड़ी परीक्षा होगी।

इसके अलावा पाकिस्तान के स्पिन विभाग में अनुभवी आफ स्पिनर मुहम्मद हफीज, इमाद वसीम और शादाब खान हैं जिससे अफगानिस्तान के लिए चुनौती बेहद कड़ी हो गई है। ऐसे में अफगानिस्तान को यदि मैच में जीत दर्ज करनी है तो उसके गेंदबाजों को पाकिस्तानी बल्लेबाजों पर दबाव बनाना होगा। पाकिस्तान के शीर्ष क्रम में कप्तान आजम और मुहम्मद रिजवान ने अब तक अच्छी भूमिका निभाई है। लगातार तीसरी जीत से पाकिस्तान की सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदें मजबूत हो जाएंगी क्योंकि इसके बाद उसका सामना स्काटलैंड और नामीबिया जैसी अपेक्षाकृत कमजोर टीमों से होगा।

Edited By: Sanjay Savern