दुबई, प्रेट्र। टी-20 विश्व कप में टीम के अभियान से शुरू होने से पहले सोमवार को इंग्लैंड के खिलाफ खेले जाने वाले अभ्यास मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली की नजरें आलराउंडर हार्दिक पांड्या की लय और बल्लेबाजी क्रम को सही करने पर होगी।

भारतीय टीम को सोमवार को इंग्लैंड के बाद बुधवार को आस्ट्रेलिया के खिलाफ अभ्यास मैच खेलना है। टीम के सभी खिलाड़ी हाल ही में समाप्त हुई आइपीएल का हिस्सा थे। ऐसे में कोहली के खिलाडि़यों के लिए मैच अभ्यास कोई समस्या नहीं है लेकिन 24 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ टूर्नामेंट में अपने शुरुआती मैच से पहले उनकी कोशिश सही संयोजन बनाने की होगी। इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय टीम प्रबंधन उन खिलाडि़यों को मौका देना चाहेगा जिनकी जगह अंतिम एकादश में पक्की नहीं है। ऐसे खिलाडि़यों को बल्लेबाजी या गेंदबाजी के लिए और अधिक मौके देने की कोशिश होगी ताकि उनकी मौजूदा फार्म के बारे में बेहतर जानकारी मिल सके।

सलामी बल्लेबाज के तौर पर उप-कप्तान रोहित शर्मा का स्थान पक्का है जबकि उनके साथी के तौर पर इशान किशन और लोकेश राहुल के बीच किसी एक को चुनना कठिन विकल्प होगा। इन अभ्यास मैचों में इन्हीं दोनों को पारी का आगाज करने का मौका मिल सकता है ताकि यह देखा जा सके की कौन बेहतर लय में है। राहुल हालांकि इसके लिए बड़े दावेदार होंगे क्योंकि उनके पास दबाव के मैच खेलने का अनुभव है। उन्होंने आइपीएल के 14वें सत्र में 138.80 के स्ट्राइक रेट से 626 रन (30 छक्कों सहित) बनाए हैं।

किशन ने भी आइपीएल में मुंबई इंडियंस के आखिरी दो मैचों में लगातार तेजतर्रार अर्धशतक लगाकर लय में आने के संकेत दिए थे। उन्होंने इन दोनों मैचों में पारी का आगाज किया था। राहुल अगर पारी का आगाज करते है तो किशन मध्यक्रम में छठे स्थान पर हार्दिक को कड़ी टक्कर देंगे। हार्दिक और किशन दोनों का आइपीएल के यूएई चरण में प्रदर्शन निराशाजनक रहा है। हार्दिक की गेंदबाजी भी एक बड़ा मुद्दा होगा। इस बात की संभावना कम है कि वह गेंदबाजी करेंगे। ऐसे में यह देखना भी दिलचस्प होगा कि अगर वह टीम का हिस्सा है तो विकेटकीपर रिषभ पंत से पहले बल्लेबाजी करेंगे या बाद में।

स्पिन गेंदबाजी विभाग में रवींद्र जडेजा का टीम में स्थान पक्का है। अगर वरुण चक्रवर्ती फिट रहते है तो टीम में उनका स्थान भी लगभग पक्का है। तीसरे स्पिनर के लिए लेग स्पिनर राहुल चाहर और आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्चिन के बीच मुकाबला होगा। तेज गेंदबाजी की कमान भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह को मिलने की उम्मीद है, लेकिन अगर टीम दो स्पिनरों के साथ उतरने का फैसला करती है तो टीम में शार्दुल ठाकुर को जगह मिल सकती है। वहीं, इंग्लैंड को जोस बटलर के साथ आक्रामक बल्लेबाजी करने वाले जेसन राय और जानी बेयरस्टो से उम्मीद होगी। आइपीएल के प्रदर्शन को पैमाना रखे तो लियाम लिविंगस्टोन और डेविड मलान जैसे कुछ बल्लेबाज यहां संघर्ष कर सकते हैं। इयोन मोर्गन कप्तान के तौर पर कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए शानदार रहे हैं, लेकिन वह टूर्नामेंट में बल्ले से कुछ खास नहीं कर सके।

टीमें :

भारत : विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उपकप्तान), लोकेश राहुल, सूर्यकुमार यादव, रिषभ पंत (विकेटकीपर),इशान किशन (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, वरुण चक्रवर्ती, राहुल चाहर, शार्दुल ठाकुर, जसप्रीत बुमराह, मुहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, हार्दिक पांड्या।

इंग्लैंड : इयोन मोर्गन (कप्तान), जेसन राय, सैम बिलिंग्स, लियाम लिविंगस्टोन, डेविड मलान, जोस बटलर (विकेटकीपर), जानी बेयरस्टो (विकेटकीपर), मोइन अली, टाम कुर्रन, क्रिस जार्डन, डेविड विली, क्रिस वोक्स, टाइमल मिल्स, आदिल राशिद, मार्क वुड।

Edited By: Sanjay Savern