लंदन, एजेंसी। एशेज सीरीज में 110 से ज्यादा के औसत से पांच मैचों की सात पारियों में 774 रन बनाने वाले ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को प्रतिष्ठित कॉम्पटन-मिलर पदक से नवाजा गया। खास बात यह है कि स्मिथ लगातार दूसरी बार यह पदक हासिल करने में सफल रहे हैं। स्टीव स्मिथ सिर में चोट के कारण इस साल की एशेज सीरीज में एक मैच समेत 3 पारियों में नहीं खेल पाए थे। बावजूद इसके वह सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे।

एशेज सीरीज का पांचवां और अंतिम टेस्ट इंग्लैंड ने 135 रन से जीता। ऑस्ट्रेलिया को अंतिम टेस्ट जीतने के लिए 399 रन का लक्ष्य मिला था, लेकिन मैथ्यू वेड के शतक (117) के बावजूद ऑस्ट्रेलियाई टीम 77 ओवर में 263 रन पर ढेर हो गई और मैच गंवा बैठी। इंग्लैंड की ओर से जैक लीच और स्टुअर्ट ब्रॉड ने 4-4 विकेट झटके। पांचवां टेस्ट जीतकर इंग्लैंड की टीम सीरीज 2-2 से बराबर कराने में सफल रही। इस हार के बावजूद यह सीरीज स्मिथ के लिए कई अच्छी यादें लेकर आई। 

स्मिथ ने लगाए तीन शतक और 3 अर्धशतक

दाएं हाथ के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने इस सीरीज में तीन शतक और तीन अर्धशतक लगाए। उन्होंने सात पारियों में 144, 142, 92, 211, 82, 80 और 23 के स्कोर किए। वह किसी एक एशेज सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने के मामले में पांचवें स्थान पर आ गए हैं। स्मिथ के अलावा डॉन ब्रैडमैन ने 1930 में 974 रन, वॉली हैमंड ने 1928 में 905 रन, मार्क टेलर ने 1989 में 839 रन, ब्रैडमैन ने 1936 में 810 रन बनाए हैं।

सीरीज में बेहतरीन खिलाड़ी मिले- स्मिथ

मैच के बाद स्टीव स्मिथ ने कहा, "इंग्लैंड में बीते दो महीने शानदार रहे। यहां बेहतरीन क्रिकेट खेली गई। मुझे टीम के लिए प्रदर्शन करने का गर्व है। इस सीरीज से कुछ बेहतरीन खिलाड़ी निकले। मैथ्यू वेड ने साबित किया कि वह काफी मजबूत खिलाड़ी हैं और इंग्लैंड के लिए जोफ्रा आर्चर बेहतरीन खोज रहे। आर्चर ने आईपीएल के बीते सत्र में अपने लक्षण दिखा दिए थे। उनमें खास कौशल है और उनका भविष्य काफी उज्ज्वल है।"   

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप