नई दिल्ली, जेएनएन। कोलकाता नाइट राइडर्स यानी केकेआर इंडियन प्रीमियर लीग की सबसे बेहतरीन फ्रेंचाइजी में से एक है। इसकी स्थापना के बाद से टीम के सह-मालिक शाहरुख खान की वजह से इस टीम के फैंस की संख्या काफी बड़ी है। एसआरके का क्रिकेट के साथ जुड़ाव साल 2008 से हुआ और अब ये उनकी जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन चुका है। 

आइपीएल के वक्त शाहरुख खान कई बार स्टेडियम में अपनी टीम का मैच देखने आते हैं और अपने खिलाड़ियों को जमकर चीयर करते हैं। हालांकि शुरुआत में केकेआर के लिए कुछ भी आसान नहीं था, इस टीम ने शुरुआती तीन सीजन में उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं किया था, लेकिन एसआरके हमेशा अपनी टीम के साथ खड़े नजर आए और हौसला बढ़ाते रहे। 

शाहरुख ने खराब प्रदर्शन के बाद भी टीम से बेहतर करने की उम्मीद नहीं छोड़ी और उनकी उम्मीद को उड़ान तब मिली जब साल 2011 में गौतम गंभीर केकेआर के साथ जुड़े। गंभीर की कप्तानी में इस टीम ने साल 2012 और 2014 में आइपीएल खिताब जीता और इसके बाद टीम लगातार प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करती रही। रॉबिन उथप्पा भी कई साल तक केकेआर का हिस्सा रहे और टीम की दो खिताबी जीत में वो इसका हिस्सा थे। केकेआर ने उथप्पा को आइपीएल 2020 से पहले ही रिलीज कर दिया था। 

बीसीसी के दूसरा पोडकास्ट में बात करते हुए उथप्पा ने शाहरुख खान की इस बात के लिए तारीफ की कि वो हमेशा टीम के साथ बने रहते थे इस दौरान उनकी उर्जावान उपस्थिति टीम के लिए काफी फायदेमंद होती थी। बातचीत के दौरान उथप्पा ने साल 2014 की एक पार्टी के बारे में बताया जहां शाहरुख डांस फ्लोर का नेतृत्व कर रहे थे और सभी खिलाड़ी वहां डांस कर रहे थे। उथप्पा ने कहा कि शाहरुख खान की उर्जा उनके लिए एक रहस्य की तरह है। 

उथप्पा ने कहा कि उस इंसान की एनर्जी अभेद्य है। वो सबको कुर्सी से उठाते हैं और उन्हें डांस फ्लोर तक लाते हैं। मुझे नहीं पता ये सब कैसे चलता रहता है। वो रात में सिर्फ चार घंटे सोते हैं और मझे नहीं पता कि वो ये कैसे करते हैं, लेकिन वो अद्भुद हैं और यही नहीं वो एक कमाल के इंसान भी हैं। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस