कोलकाता। श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के टेस्ट कप्तान दिनेश चांदीमल ने भारत के खिलाफ चार गेंदबाजों के साथ खेलने के संकेत दिए। कोलकाता पहुंचे चांदीमल ने प्रेस वार्ता में कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ यूएई के गर्म मौसम में हम छह बल्लेबाजों और चार गेंदबाजों के साथ खेले और यह फार्मूला काम कर गया। चार गेंदबाजों के साथ खेलकर मैच जीतना कभी आसान नहीं होता। भारत के खिलाफ हमारे पास कुछ अच्छे गेंदबाज हैं इसलिए हम ऑलराउंडर के तौर पर किसी खिलाड़ी को मौका दे सकते हैं। हम पिच देखने के बाद अपनी योजना बनाएंगे।

भारत ने श्रीलंका को उसके वतन में टेस्ट, वनडे और टी-20 में क्लीन स्वीप किया था। चांदीमल ने कहा, 'हम जानते हैं कि भारत इस समय नंबर एक टीम है। उसने पिछले दो सालों के दौरान काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। हमने भी पाकिस्तान के खिलाफ अच्छा खेला है। हमारे लड़के अब इस चुनौती के लिए तैयार हैं।

 

चांदीमल ने माना कि भारत में भारत के खिलाफ खेलना एक बड़ी चुनौती है लेकिन श्रीलंकाई टीम पिछले नतीजे को भूलकर आगे आगे बढऩा चाहती है। गौरतलब है कि श्रीलंका ने भारत में अब तक एक भी टेस्ट मैच नहीं जीता है। चांदीमल ने कहा, 'भारत में टेस्ट जीतना सभी का सपना होता है। इसके लिए हमें टीम के तौर पर अच्छी शुरुआत करनी होगी। श्रीलंकाई टीम का ईडन में यह पहला टेस्ट मैच भी होगा। रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा की स्पिन जोड़ी के बारे में चांदीमल ने कहा, 'वे दुनिया के एक व दो नंबर के गेंदबाज हैं। उनसे निपटने के लिए हमने योजना तैयार की हैं, जिसका मैं यहां खुलासा करना नहीं चाहूंगा। 

 

श्रीलंकाई टीम के मुख्य कोच निक पोथास ने कहा, 'भारत से पिछली सीरीज में मिली हार से हमने कई सबक सीखे हैं और हम बेहतर टीम के तौर पर उभरे हैं। हमने सीखा कि भारतीय टीम किसी तरह से अच्छा खेलती है और किन क्षेत्रों में हमें खुद को बेहतर करने की जरुरत है। नुवान प्रदीप को टीम में शामिल नहीं किए जाने के बारे में कोच ने कहा, 'प्रदीप पिछले कुछ समय से चोट से घिरे रहे हैं। चयनकर्ताओं ने उन्हें फिटनेस हासिल करने के लिए थोड़ा समय देने का फैसला किया है। टीम में कई नए चेहरे हैं। उनके सामने खुद को साबित करने का यह अच्छा मौका होगा। श्रीलंका की टीम अब पहले से कहीं बेहतर और अनुशासित है। उनके मुताबिक, दो महीने के सीमित समय में टीम ने अपने ऊपर फोकस करना सीखा है।

 

श्रीलंका के कप्तान   दिनेश चांदीमल ने पिछले महीने यह कहकर विवाद को जन्म दिया था कि पाकिस्तान के खिलाफ श्रीलंका को सीरीज में मिली जीत के पीछे किसी मायावी शक्ति का हाथ था। टीम के मैनेजर असंका गुरुसिन्हा ने उनका बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने (चांदीमल) पहले ही इन सवालों का जवाब दे दिया है। क्रिकेट में आपको मैदान पर जाकर प्रदर्शन करना होता है। श्रीलंका की टीम इसी तरह के दृष्टिकोण में यकीन रखती है। आपकी तरह हमारे भी कुछ धार्मिक विश्वास हैं लेकिन अंतत: आपको मैदान में खेलकर दिखाना होता है।

 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप