नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। श्रीलंका की टीम को भारत के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में हार का सामना करना पड़ा। इसी के साथ श्रीलंका की टीम को सीरीज भी गंवानी पड़ी, लेकिन अब तीसरी मार श्रीलंकाई टीम पर पड़ी है, क्योंकि इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आइसीसी ने मेजबान श्रीलंकाई टीम पर जुर्माना लगाया है। आइसीसी ने भारत के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में स्लो ओवर रेट के चलते श्रीलंकाई टीम पर जुर्माना लगाया है।

कोलंबो के आर प्रेमदासा इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए तीन मैचों की वनडे सीरीज के दूसरे मुकाबले में भारत के खिलाफ धीमी ओवर गति के कारण श्रीलंका की टीम पर 20 फीसदी मैच फीस का जुर्माना लगा है। आइसीसी एलीट पैनल के मैच रेफरी रंजन मदुगले ने दासुन शनाका की कप्तानी वाली टीम पर समय के भीतर ओवर नहीं फेंक पाने के लिए दोषी पाया है और कप्तान समेत टीम के बाकी खिलाड़ियों पर जुर्माना लगाया है।

खिलाड़ियों और खिलाड़ी समर्थन कर्मियों के लिए आइसीसी की आचार संहिता के अनुच्छेद 2.22 के अनुसार, जो न्यूनतम ओवर-रेट अपराधों से संबंधित है, खिलाड़ियों पर उनकी मैच फीस का 20 प्रतिशत जुर्माना लगाया जाता है, जब उनकी टीम आवंटित समय में गेंदबाजी करने में विफल रहती है। इसके अलावा, आइसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग खेलने की स्थिति के अनुच्छेद 16.12.2 के अनुसार, एक टीम को प्रत्येक ओवर शॉर्ट के लिए एक अंक का दंड दिया जाता है।

यही वजह है कि श्रीलंका की टीम पर आइसीसी क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग के दौरान अपने अंक तालिका से एक अंक खोना पड़ेगा। कप्तान दासुन शनाका ने अपराध के लिए खुद को दोषी ठहराया और प्रस्तावित मंजूरी को भी स्वीकार कर लिया। ऐसे में अब इस मामले में औपचारिक सुनवाई की कोई आवश्यकता नहीं थी। मैदानी अंपायर कुमार धर्मसेना और लिंडन हैनिबल, तीसरे अंपायर रुचिरा पल्लियागुरुगे और चौथे अंपायर प्रगीत रामबुकवेला ने श्रीलंका की टीम पर ये आरोप लगाया था।