नई दिल्ली, जेएनएन। भारत ने न्यूज़ीलैंड को वनडे और टी-20 सीरीज़ में मात देकर कीवी टीम को खाली हाथ ही अपने घर जाने पर मजबूर कर दिया। न्यूज़ीलैंड को पस्त करने के बाद भारत के सामने अगली चुनौती मिशन श्रीलंका है। विराट सेना से लौहा लेने के लिए श्रीलंकाई टीम बुधवार को कोलकाता पहुँच गई। तकरीबन 7 सप्ताह के लिए भारत दौरा करने करने वाली श्रीलंकाई टीम अपने नए नवेले कोच थिलान समरवीरा  के बिना ही भारत दौरे पर आई है। थिलान समरवीरा को समय पर वीजा नहीं मिलने के कारण वे टीम के साथ नहीं आ पाए। उन्हें 4 नवंबर को ही टीम का बल्लेबाजी कोच बनाया गया था।

बल्लेबाजी कोच बनाए जाने के बाद समरवीरा श्रीलंका की टीम के साथ कोई  भी ट्रेनिंग कैंप आयोजित नहीं सके, क्योंकि कोच बनाए जाने के बाद उनके पास समय बहुत कम था। दोनों भारत और श्रीलंका के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज शुरू होने में फिलहाल 8 दिन का समय बचा हुआ है। इन दोनों टीमों के बीच पहला टेस्ट मैच 16 नवम्बर को कोलकाता के ईडन गार्डंस स्टेडियम पर खेला जाना है। श्रीलंका क्रिकेट के सूत्रों के अनुसार शुक्रवार तक समरवीरा को को भारत आने के लिए वीजा मिल जाएगा।

श्रीलंका की टीम विराट सेना के खिलाफ पहला टेस्ट  मैच खेलने से पहले बीसीसीआइ एकादश के खिलाफ एक 2 दिवसीय अभ्यास मैच भी खेलेगी। ये मुकाबला 11 और 12 नवंबर को खेला जाना है। श्रीलंका की टेस्ट टीम भारत में 8 साल बाद आई है। 2009 में उन्होंने अंतिम बार भारत में टेस्ट खेला था। भारत में खेले गए 17 टेस्ट मैचों में श्रीलंका को 10 में पराजय मिली है और 7 मैच ड्रॉ पर समाप्त हुए हैं।

श्रीलंका की टीम ने हाल ही में यूएई में समाप्त हुए टेस्ट सीरीज में पाकिस्तान को 2-0 से हराया था। इससे पहले भारत ने श्रीलंका दौरे पर हुई तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में मेजबान टीम को 3-0 से हराया था। इसके अलावा वन-डे और टी20 सहित कुल 9 मैचों में भारत ने श्रीलंका को हराया था।

मेहमान टीम इस भारतीय दौरे पर 3 टेस्ट मैचों के साथ-साथ 3 वनडे मैच और तीन ही टी-20 मैच खेलेगी। तीनों सीरीज मिलकर कुल 9 मुकाबले खेले जाएंगे और 7 सप्ताह तक यह टीम भारत दौरे पर रहेगी। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप