कोच्चि, बिपिन दानी। 32 वर्षीय भारतीय क्रिकेटर एस. श्रीसंत के लिए अपनी 45 दिन की बेटी बहुत भाग्यशाली साबित हुई है और वे उसका नामकरण 19 अगस्त को करेंगे।

श्रीसंत को शनिवार को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने 2013 के आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में बरी घोषित कर दिया था। इस फैसले के बाद श्रीसंत और उनकी पत्नी भुवनेश्वरी कुमारी दिल्ली में ज्यादा समय तक नहीं रूके और रविवार सुबह ही कोच्चि लौट आए।

घर लौटकर राहत महसूस कर रहे श्रीसंत ने कहा- 'फैसले के लिए मेरे साथ सिर्फ मेरी पत्नी दिल्ली गई थी। मैं नहीं चाहता था कि लोग मेरी बेटी को यह कहे कि आरोपी श्रीसंत की बेटी। मैंने रविवार को कोच्चि के लिए दोपहर की फ्लाइट की टिकट बुक की थी, लेकिन मैं योजना बदलकर सुबह 6.30 की फ्लाइट से कोच्चि रवाना हुआ। हम जल्दी से जल्दी घर पहुंचकर बेटी को गले लगाना चाहते थे।'

श्रीसंत को फ्लाइट में सहयात्रियों ने बधाई दी और एयरपोर्ट पर उनके स्वागत के लिए परिजन, मित्र और प्रशंसक मौजूद थे। श्रीसंत ने कहा- हमारी बेटी बहुत भाग्यशाली है। अभी हम उसे घर मे 'श्रीकुट्टी' नाम से बुलाते हैं, लेकिन उनका नामकरण समारोह 19 अगस्त को होगा। हम ऐसा नाम तलाश रहे हैं जिसका मलयालम और राजस्थानी भाषा में अच्छा मतलब निकलता हो।

भारतीय तेज गेंदबाज श्रीसंत ने दिसंबर 2013 में जयपुर के शेखावत परिवार की भुवनेश्वरी से शादी की थी। अपने खिलाफ आरोप खारिज हो जाने के बावजूद श्रीसंत को भारतीय टीम में वापसी की जल्दी नहीं है। उन्होंने कहा- मैंने इस फैसले के लिए लंबा इंतजार किया है। मैं किसी प्रकार की जल्दबाजी नहीं करूंगा, जब तक बीसीसीआई अपने रवैये में कोई परिवर्तन नहीं कर लेता। मैं छोटी निजी एकेडमी शुरू करूंगा और केरल रणजी टीम में जगह मजबूत करने का प्रयास करूंगा। इसके बाद ही मैं टीम इंडिया में वापसी के बारे में सोचूंगा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस