जागरण संवाददाता, नई दिल्ली। क्रिकेट जगत के सबसे बड़े मैच फिक्सिंग प्रकरण के आरोपित संजीव चावला को हाई कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में जेल भेजने का आदेश दिया है। इससे पहले निचली अदालत ने उसे 12 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा था।

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने चावला को लंदन से लाकर पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया था और गुरुवार को 12 दिन की रिमांड पर लिया था। शुक्रवार को चावला ने हाई कोर्ट में अर्जी दायर कर निचली अदालत के आदेश को चुनौती दी थी। चावला की याचिका में कहा गया कि भारत के विदेश मंत्रालय ने यूके (युनाइटेड किंगडम) सरकार को भरोसा दिया था कि उसे सिर्फ कोर्ट ट्रायल का सामना कराने के लिए न्यायिक हिरासत में रखा जाएगा, जबकि क्राइम ब्रांच ने उसे रिमांड पर ले लिया। चूंकि हाई कोर्ट में केस के जांच अधिकारी मौजूद नहीं थे, लिहाजा न्यायमूर्ति अनु मल्होत्रा ने चावला को अगले आदेश तक न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया। साथ ही केंद्र और दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर 19 फरवरी तक जवाब दाखिल करने के लिए कहा है।

19 साल बाद लंदन से प्रत्यर्पण कर भारत लाया गया

सन् 2000 में भारत-दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टेस्ट सीरीज में मैच फिक्सिंग करने वाले दिल्ली के व्यवसायी संजीव चावला को 19 साल बाद दिल्ली पुलिस गुरुवार को लंदन से दिल्ली लेकर आई। आरोप है कि संजीव ने भारत की जीत सुनिश्चित करने के लिए दक्षिण अफ्रीकी टीम के तत्कालीन कप्तान हैंसी क्रोनिए को मैच फिक्स करने की एवज में 30 हजार डॉलर देने का ऑफर दिया था।

चावला ने हैंसी क्रोनिए को खेल के तीसरे दिन मैच हार जाने को कहा था। दोनों की बात लीक हो जाने पर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस कुछ कर पाती इससे पहले ही चावला लंदन भाग गया और बाद में वहां की नागरिकता ले ली थी।

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस