कराची। स्पॉट फिक्सिंग मामले में 'दागदार' क्रिकेटर सलमान बट और मोहम्मद आसिफ को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने माफी दे दी है। इन दोनों का नाम दूसरी पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) की खिलाड़ियों की सूची में शामिल किया गया है।

इन दोनों क्रिकेटरों को, पहले पीएसएल की खिलाड़ियों की सूची से बाहर रखा गया था। स्पॉट फिक्सिंग में इन दोनों पर लगा पांच साल का बैन समाप्त हो गया है। पूर्व टेस्ट कप्तान सलमान बट को प्लेयर्स ड्राफ्ट में गोल्ड कैटेगरी में शामिल किया गया है जबकि आसिफ इससे नीचे सिल्वर कैटेगरी में हैं।

प्लेयर्स ड्राफ्ट में जगह पाने पर प्रतिक्रिया देते हुए सलमान ने कहा, 'प्रतिबंध खत्म होने के बाद यह एक बड़ा कदम है, लेकिन मैं नर्वस हूं कि कोई फ्रेंचाइजी मेरा चयन करेगी भी या नहीं।' बाएं हाथ के इस ओपनर ने कहा कि 'टी20 फॉर्मेट में खेलने को लेकर मैं सुविधाजनक स्थिति में हूं।' वैसे भी पीएसएल प्लेयर्स की सूची में जगह बनाना सलमान के लिए बड़ा अवसर है और इससे जरिये पाकिस्तान टीम में फिर जगह बनाने की हसरत उनके मन में है।

सूत्रों के मुताबिक असमंजस की यह स्थिति इसलिए है क्योंकि बट स्पॉट फिक्सिंग स्कैंडल के रिंग लीडर थे और वे इस बात को लेकर चिंतित हैं कि बट की वापसी की क्या प्रतिक्रिया होगी। इसके साथ ही बोर्ड को लगता है कि विदेशी दौरों की स्थिति में बट के लिए वीजा हासिल करने में बोर्ड को परेशानी हो सकती है। दूसरी ओर पूर्व कप्तान बट का कहना है कि वे पहले ही चीन, नॉर्वे और अन्य देश जा चुके हैं और ऐसी किसी भी स्थिति का सामना करने को तैयार हैं। बट इस समय कायदे-आजम ट्रॉफी में हिस्सा ले रहे हैं।

बट ने कहा, 'मैंने पहले, जो कुछ भी किया उसे लेकर पश्चाताप और अपराधबोध महसूस करता हूं, लेकिन अब मेरा खुद पर भरोसा बढ़ा है। मैं केवल आगे की चीजें अच्छी होने की उम्मीद और प्रार्थना कर सकता हूं।' हालांकि सलमान बट का प्रतिबंध सितंबर 2015 में समाप्त हो गया है लेकिन राष्ट्रीय चयनकर्ता उन्हें चुनने को लेकर अभी भी असमंजस की स्थिति में हैं।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें

खेल की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें

Aus-vs-Ind

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021