जागरण न्यूज नेटवर्क, नई दिल्ली। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने भारतीय दृष्टिहीन क्रिकेट संघ (सीएबीआइ) को पहचान दिलाने और इसके खिलाडि़यों को बोर्ड के पेंशन स्कीम के अंतर्गत लाने की बीसीसीआई से अपील की है। तेंदुलकर ने प्रशासक समिति के अध्यक्ष विनोद राय को पत्र लिखा और उनसे सीएबीआइ को पहचान दिलाने की मांग की। एक हफ्ते पहले ही भारतीय टीम ने दृष्टिहीन विश्व कप का खिताब जीता था जहां उसने फाइनल में पाकिस्तान को दो विकेट से शिकस्त दी थी।

सचिन ने पत्र में लिखा कि हमने लगातार चौथी बार दृष्टिहीन विश्व कप पर कब्जा जमाया। मैं बीसीसीआइ से भारतीय दृष्टिहीन क्रिकेट संघ को पहचान दिलाने की मांग करता हूं। मास्टर ब्लास्टर भारत के दृष्टिहीन क्रिकेटरों के लड़ने के जज्बे से काफी प्रभावित नजर आए और उन्होंने कहा कि ये तमाम बाधाओं को पार करके यहां तक पहुंचे हैं। इन्होंने बस देश को ख्याति दिलाने पर ध्यान लगाया। इनकी जीत प्रेरणा देती है और हमें मनुष्य की अपार शक्ति की याद दिलाती है।

सचिन ने आशा जताई है कि बोर्ड इन मुद्दों को समझेगा और सही कदम उठाएगा। बता दें कि भारतीय टीम के विश्व चैंपियंस बनने के बाद विनोद राय ने भी घोषणा की थी कि दृष्टिहीन क्रिकेटर को बीसीसीआइ द्वारा सम्मानित किया जाएगा। उधर सीएबीआइ के अध्यक्ष मयंतेश ने आशा जताई है कि सचिन के पहल से बात बन सकती है। उन्होंने कहा कि सचिन के पत्र से बात बढ़ेगी। फिलहाल बीसीसीआइ से बात चल रही है और जल्द ही अच्छे नतीजे आने की संभावना है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Ravindra Pratap Sing