नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम इस समय इंग्लैंड के दौरे पर है। इसी दौरे से एक अच्छी खबर टीम इंडिया के लिए आई है, क्योंकि विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत ने कोरोना वायरस को मात दे दी है और वे इस संक्रमण से निजात पाने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के बायो-बबल में शामिल हो गए हैं। डरहम में खेले जा रहे अभ्यास मैच के दौरान रिषभ पंत ने बायो-बबल में एंट्री की है।

इंग्लैंड के खिलाफ 4 अगस्त से शुरू हो रही पांच मैचों की टेस्ट सीरीज से पहले ये अच्छी बात है कि रिषभ पंत कोविड-19 से उबर चुके हैं। विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर रिषभ पंत का स्थान पक्का है। ऐसे में नॉटिंघम टेस्ट से पहले उनका टीम में शामिल होना, टीम को मानसिक रूप से भी मजबूत करता है। 8 जुलाई को रिषभ पंत को कोरोना से संक्रमित पाया गया था, क्योंकि वे शायद यूरो कप के एक मैच के दौरान किसी के संपर्क में आ गए थे।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ ने ट्विटर पर रिषभ पंत की वापसी की घोषणा की। बीसीसीआइ ने अपने आधिकारिक ट्विटर पर लिखा, "हैलो रिषभ पंत, आपको वापस पाकर बहुत अच्छा लगा।" पंत ने यूके के दिशानिर्देशों के अनुसार 10 दिनों की अपनी आइसोलेशन अवधि पूरी कर ली है। साउथैंम्प्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के बाद टीम के 20 दिनों के ब्रेक के दौरान उन्हें कोविड 19 टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया था।

पंत को हाल ही में यूरो 2020 गेम में देखा गया था और यहां तक कि उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर तस्वीरें भी अपलोड की थीं। बीसीसीआइ की मेडिकल टीम ने भरत अरुण, गेंदबाजी कोच, रिद्धिमान साहा और अभिमन्यु ईश्वरन की पहचान दयानंद गरानी (थ्रोडाउन विशेषज्ञ सह मालिश करने वाले) के करीबी संपर्कों के रूप में की थी, जो 14 जुलाई को आरटी-पीसीआर परीक्षणों के बाद टीम होटल में थे। ये सभी लोग 10 दिन के लिए आइसोलेशन में हैं।