नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। टीम इंडिया के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने एक और जीत में अहम योगदान निभाया है। इस बार उन्होंने किसी क्रिकेट के मैदान पर नहीं बल्कि चुनाव के मैदान पर अपनी पत्नी रिवावा के लिए पूरी ताकत झौंक दी थी। नतीजा रवींद्र जडेजा का ऑलराउंड एफर्ट यहां भी काम कर गया और रिवावा ने गुजरात की जामनगर (नॉर्थ) सीट से जीत दर्ज कर ली।

रिवाबा जडेजा के पक्ष में 56 प्रतिशत से ज्यादा मत पड़े। उन्हें कुल 84,336 वोट मिले। उनका मुकाबला आम आदमी पार्टी के करशनभाई से था, जिन्होंने 33,880 वोट पाया। इस सीट पर तीसरे नंबर पर कांग्रेस प्रत्याशी बिपेंद्र सिंह जडेजा रहे जिन्हें 22,822 वोट मिला।

जीत के बाद क्या बोली रिवाबा

पहली बार विधायक बनी रिवाबा ने जीत के बाद कहा 'जिन्होंने मुझे खुशी से उम्मीदवार के तौर पर स्वीकार किया, मेरे लिए काम किया और जनता तक पहुंचे, मैं उनका बहुत धन्यवाद देती हूं। ये केवल मेरी जीत नहीं, आप सभी की जीत है।' वह पहले ही प्रयास में विधायक बनी हैं।

जडेजा को मिला जन्मदिन का तोहफा

6 दिसंबर को रवींद्र जडेजा ने अपना 34वां जन्मदिन मनाया था और दो दिन बाद उनकी पत्नी रिवाबा ने उन्हें जीत का तोहफा दिया। इंजरी के कारण टीम से बाहर चल रहे रवींद्र जडेजा ने इस दौरान अपनी पत्नी का चुनाव प्रचार के दौरान बढ़-चढ़ कर साथ दिया था।

कौन हैं रिवाबा जडेजा?

5 सितंबर 1990 को जन्मी रिवाबा ने मैकनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। 17 अप्रैल, 2016 को उनकी शादी भारतीय ऑलराउंड रवींद्र जडेजा के साथ हुई। 2019 में वह भारतीय जनता पार्टी से जुड़ीं और बतौर कार्यकर्ता 3 साल के बाद पार्टी का भरोसा जीतने में कामयाब रही। पार्टी ने 2022 विधानसभा में उन्हें टिकट दिया और पहले प्रयास में ही वह विधानसभा पहुंच गई।

Edited By: Sameer Thakur

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट