नई दिल्ली, जागरण स्पेशल। भारतीय टेस्ट टीम में जिन फिरकी गेंदबाज का दबदबा रहा है उनमें गिने चुने नाम हैं। पूर्व कप्तान अनिल कुंबले और टर्बुनेटर हरभजन सिंह के बाद अगर किसी स्पिन गेंदबाज का नाम बड़े गर्व से लिया जाता है तो वे हैं रविचंद्रन अश्विन, जिन्होंने भारतीय टीम के लिए दमदार प्रदर्शन करते हुए तमाम रिकॉर्ड्स अपने नाम किए हैं। यहां तक कुछ वर्ल्ड रिकॉर्ड तो ऐसे हैं जो खुद आर अश्विन के नाम दर्ज हो गए हैं।

साल 1986 में 17 सितंबर को चेन्नई में जन्मे आर अश्विन आज 33 साल के हो गए हैं। कैरम बॉल के जादूगर आर अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट ही नहीं, बल्कि वनडे इंटरनेशनल और टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना जलवा बिखेरा है। जरूरत पड़ने पर प्रीमियर स्पिनर माने जाने वाले आर अश्विन ने भारतीय टीम के लिए मुश्किल समय में बल्लेबाजी भी की है और तमाम रन बनाकर टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई है।

इंजीनियर थे आर अश्विन

अपना 33वां जन्मदिन मना रहे आर अश्विन इंजीनियर थे, लेकिन उन्होंने क्रिकेट खेलने को प्राथमिकता दी। आर अश्विन का फैसला खुद के लिए ही नहीं, बल्कि भारतीय क्रिकेट टीम के लिए भी काफी सही साबित हुआ। आर अश्विन ने जल्द ही भारतीय टीम में अपनी जगह पक्की कर ली और वे लगातार प्लेइंग इलेवन का हिस्सा रहे। जून 2010 में डेब्यू करने के कुछ ही महीने बाद ही अश्विन को वर्ल्ड कप 2011 की टीम में चुना गया था।

 

वर्ल्ड कप 2011 में आर अश्विन को बहुत कम मैच खेलने को मिले, लेकिन वे विजयी टीम के हिस्सा रहे। फिलहाल, भारत की टी20 और वनडे टीम का हिस्सा नहीं हैं, लेकिन लगातार वे टेस्ट टीम में चुने जा रहे हैं। आर अश्विन ने साल 2017 के मध्य से वनडे और टी20 इंटरनेशनल मैच नहीं खेला है, जबकि दिसंबर 2018 के बाद भारतीय टेस्ट टीम की प्लेइंग इलेवन का भी हिस्सा नहीं है। ऐसा भी नहीं है कि आर अश्विन की फॉर्म खराब है।

दरअसल, आर अश्विन को नज़रअंदाज नहीं, बल्कि मौकों के हिसाब से खिलाया जा रहा है। टीम संयोजन को देखते हुए भारतीय टीम को कभी 3 तो कभी चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरना पड़ता है। वहीं, जब स्पिन के दूसरे विकल्प की बात आती है तो फिर आर अश्विन टीम का हिस्सा होते हैं। यही कारण है के टीम का हिस्सा रहते और तमाम रिकॉर्ड अपने नाम करने के बाद भी बैंच स्ट्रेंथ का हिस्सा बने हुए हैं।

ये हैं आर अश्विन के वर्ल्ड रिकॉर्ड

दाएं हाथ के ऑफ स्पिन गेंदबाज आर अश्विन के नाम दो वर्ल्ड रिकॉर्ड हैं। आर अश्विन टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 250 और 300 विकेट लेने वाले दुनिया के पहले गेंदबाज हैं। आर अश्विन ने इस मामले में डेनिस लिली और मुथैया मुरलीधरन को पीछे छोड़ा हुआ है। इसके अलावा वे सबसे तेज 25 बार 5-5 विकेट लेने वाले भी दुनिया के पहले खिलाड़ी हैं। आर अश्विन साल 2016 में ICC क्रिकेटर ऑफ द ईयर भी रह चुके हैं।

भारत के पहले गेंदबाज अश्विन

आर अश्विन ने बतौर गेंदबाज भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 50, 100, 150, 200, 250 और 300 विकेट लेने का रिकॉर्ड अपने नाम किया हुआ है। यहां तक कि अनिल कुंबले और हरभजन सिंह जैसे खिलाड़ी आर अश्विन से काफी पीछे हैं। इतना ही नहीं, भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा प्लेयर ऑफ द सीरीज जीतने का रिकॉर्ड भी अश्विन के ही नाम है, जो अब तक 6 बार ये अवार्ड जीत चुके हैं। सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग ने 5-5 बार प्लेयर ऑफ द सीरीज का खिताब जीता था।

रविचंद्रन अश्विन ने भारतीय टीम के लिए अब तक 65 टेस्ट मैच खेले हैं। टेस्ट क्रिकेट में वे अब तक 342 विकेट चटका चुके हैं। इसी को देखते हुए माना जा रहा है कि आर अश्विन कई टेस्ट रिकॉर्ड ध्वस्त कर सकते हैं, लेकिन उनको ज्यादा मौके नहीं मिल रहे। वहीं, वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में आर अश्विन 111 मैचों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। वनडे क्रिकेट में उनके नाम 150 विकेट लेने का रिकॉर्ड दर्ज है। वहीं, 46 T20 इंटरनेशनल मैचों में अश्विन 52 विकेट अपने नाम कर चुके हैं।

65 टेस्ट मैचों की 93 पारियों में आर अश्विन 4 शतक और 11 अर्धशतकों के साथ 2361 रन बना चुके हैं। वहीं, वनडे क्रिकेट की 61 पारियों में आर अश्विन के नाम 675 रन दर्ज हैं। वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में भी आर अश्विन ने 1 अर्धशतक जड़ा हुआ है। आपको बता दें, एक ही टेस्ट मैच में सेंचुरी और पांच विकेट लेने का कमाल आर अश्विन ने दो बार किया है। ऐसा करने वाले वे इकलौते भारतीय क्रिकेटर हैं।

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप