ओंगोले (आंध्र प्रदेश), प्रेट्र। रणजी ट्रॉफी के इस सत्र में दिल्ली के खराब प्रदर्शन का सिलसिला जारी है। पहले मैच में केरल के खिलाफ बमुश्किल हार टालने वाली दिल्ली की टीम को गु्रप-ए में आंध्र प्रदेश के खिलाफ अपने दूसरे मैच के चौथे व अंतिम दिन नौ विकेट से करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा। इस मैच में आंध्र प्रदेश के मध्यम गति के गेंदबाजों केवी शशिकांत (5/38 व 5/41) और चिपुरापल्ली स्टीफन (2/72 व 5/91) ने शानदार प्रदर्शन किया।

पहली पारी में 215 रनों पर आउट होने वाली दिल्ली के बल्लेबाज दूसरी पारी में भी कुछ खास नहीं कर सके। ललित यादव (55) के अर्धशतक के अलावा अन्य बल्लेबाज बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर सका। इसके चलते दूसरी पारी में भी उसकी टीम 169 रनों पर आउट हो गई। आंध्र प्रदेश ने पहली पारी में ही 368 रनों का विशाल स्कोर खड़ा करने के साथ ही दिल्ली की मुश्किल पहले ही बढ़ा दी थी। आंध्र को दूसरी पारी में 17 रन का लक्ष्य मिला, जो उसने एक विकेट गंवाकर हासिल कर लिया। आंध्र की पहली पारी में शानदार शतक जड़ने वाले रिकी भुई (144) को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया। इस जीत से आंध्र को छह अंक मिले, जबकि दिल्ली को कोई अंक नहीं मिला।

उत्तराखंड की पारी से लगातार दूसरी हार

उत्तराखंड को रणजी ट्रॉफी के मौजूदा सत्र में अपने लगातार दूसरे मुकाबले में पारी की हार का सामना करना पड़ा। पहले मैच में जम्मू-कश्मीर के हाथों पारी व 253 रन से हारने वाली उत्तराखंड की टीम को ग्रुप-सी के अपने दूसरे मुकाबले में अंतिम दिन शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के हाथों पारी व 65 रनों से हार का सामना करना पड़ा। वहीं, छत्तीसगढ़ की यह इस सत्र में पहली जीत है।

शहीद वीर नारायण सिंह स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में छत्तीसगढ़ के लिए अजय मंडल ने बेहतरीन ऑलराउंडर प्रदर्शन किया। उन्होंने मैच में कुल आठ विकेट (3/17 व 5/60) लेने के अलावा पहली पारी में आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए दोहरा शतक (नाबाद 241) जड़ा था। उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

उत्तराखंड की पहली पारी 120 रन पर सिमटी थी। जवाब में छत्तीसगढ़ ने पहली पारी सात विकेट 520 रनों पर घोषित कर 400 रनों की बढ़त हासिल की थी। अंतिम दिन उत्तराखंड ने अपनी दूसरी पारी तीन विकेट पर 174 रन से आगे बढ़ाई और पूरी पारी 132.4 ओवर में 335 रनों पर सिमट गई। दूसरी पारी में तन्मय श्रीवास्तव (58), दीक्षांशु नेगी (69) और सौरभ रावत (61) ने अर्धशतक जड़े, लेकिन वे अपनी टीम को हार से नहीं बचा सके। इस जीत के साथ छत्तीसगढ़ का घरेलू मैदान पर हार का सिलसिला भी खत्म हो गया। इस जीत से छत्तीसगढ़ को सात अंक मिले, जबकि उत्तराखंड को कोई अंक नहीं मिला।

जम्मू-कश्मीर ने महाराष्ट्र को 54 रन से हराया

ग्रुप-सी के रणजी मुकाबले में जम्मू-कश्मीर ने मेजबान महाराष्ट्र की टीम को 54 रनों से मात दी। जम्मू-कश्मीर की पहली पारी 209 रनों पर सिमटी थी, जिसके जवाब में महाराष्ट्र अपनी पहली पारी में 109 पर ऑलआउट हो गई। इसके बाद दूसरी पारी में जम्मू-कश्मीर ने 263 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया, जिससे महाराष्ट्र को मैच जीतने के लिए 364 रन का लक्ष्य मिला।

दूसरी पारी में महाराष्ट्र के बल्लेबाज बल्लेबाज संघर्ष करते दिखे। महाराष्ट्र की ओर से रितुराज गायकवाड़ (71), मुर्तजा (54) और दिग्विजय देशमुख (83) ने उम्दा पारियां खेलीं, लेकिन वो उनकी टीम को जीत नहीं दिला सकीं। जम्मू-कश्मीर की ओर से दूसरी पारी में मुहम्मद मुदस्सर और उमर नजीर ने चार-चार विकेट झटके। उमर नजीर ने पहली पारी में भी पांच विकेट लिए थे। इस तरह मैच में नौ विकेट लेने के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। इस जीत से जम्मू-कश्मीर को छह अंक मिले।

उत्तर प्रदेश और कर्नाटक के बीच मैच ड्रॉ

उत्तर प्रदेश और कर्नाटक के बीच अंतिम दिन रणजी मुकाबला बिना ड्रॉ के रूप में समाप्त हुआ। पहली पारी में आर्यन जुयाल (109) के शानदार शतक और मुहम्मद सैफ (80) के अर्धशतक की बदौलत उत्तर प्रदेश ने 281 रनों का स्कोर बनाया। कर्नाटक ने देवदत्त पडिक्कल (74) और श्रेयस गोपाल (38) के अर्धशतकों की मदद से पहली पारी में 321 रन बनाकर बढ़त हासिल की। कर्नाटक की पहली पारी के दौरान उत्तर प्रदेश के गेंदबाज सौरभ कुमार ने छह विकेट चटकाए। उत्तर प्रदेश ने अलमास शौकत के नाबाद 103 रन से दूसरी पारी तीन विकेट पर 204 रन पर घोषित की। इसके बाद दोनों टीमों के कप्तान मैच ड्रॉ करने पर सहमत हो गए। कर्नाटक को पहली पारी की बढ़त के आधार पर तीन और उत्तर प्रदेश को एक अंक मिला।

पंजाब ने हैदराबाद को पारी व 125 रन से हराया

पंजाब ने यहां ध्रुव पांडव स्टेडियम में खेले गए चार दिवसीय रणजी ट्रॉफी मैच के अंतिम दिन शुक्रवार को हैदराबाद को पारी और 125 रनों से मात दी। इस जीत से पंजाब को सात अंक मिले। कप्तान मंदीप ¨सह को दोहरे शतक के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।

हैदराबाद ने तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक अपनी दूसरी पारी में महज 30 रन पर पांच विकेट गंवा दिए थे। चौथे दिन भी उसके बल्लेबाजों की विफलता का सिलसिला जारी रहा। चौथे दिन हैदराबाद की पूरी टीम 76 रन पर पवेलियन लौट गई। हैदराबाद के लिए सबसे ज्यादा 37 रन जहां साकेत ने बनाए वहीं हिमालय अग्रवाल ने 21 रन का योगदान दिया। इसके अतिरिक्त कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं छू सका। पंजाब के लिए मयंक मार्कंडेय ने 19 रन देकर पांच विकेट और अकुल पांडव ने 27 रन देकर तीन हासिल किए।

हैदराबाद ने पहली पारी में 242 रन बनाए थे। जवाब में पंजाब ने कप्तान मंदीप ¨सह के दोहरे शतक की बदौलत अपनी पहली छह विकेट पर 443 रन पर घोषित की थी।

बिहार और चंडीगढ़ के बीच मैच ड्रॉ

बिहार ने कुमार निशांत के अर्धशतक और रहमत उल्लाह की 102 गेंदों पर खेली गई 21 रन की पारी ने मेजबान चंडीगढ़ के खिलाफ खेले गए रणजी ट्रॉफी मैच को ड्रॉ करवाने में सफलता हासिल की। सेक्टर-16 स्थित क्रिकेट स्टेडियम में खेला गया यह मैच खराब रोशनी के कारण 11 ओवर पहले खत्म कर दिया गया, उस समय चंडीगढ़ की टीम को जीत के लिए चार विकेट और झटकने थे। चंडीगढ़ की टीम ने पहली पारी की बढ़त के चलते तीन अंक जुटाए। वहीं बिहार की टीम को एक अंक से ही संतोष करना पड़ा।

बिहार ने शुक्रवार सुबह चार रन से आगे खेलना शुरू किया तो सलामी बल्लेबाज इंद्रजीत कुमार और कुमार निशांत ने 101 रन की सधी हुई सांझेदारी निभाई। 24वें ओवर में चंडीगढ़ के गेंदबाज गुरिंदर ¨सह ने इंद्रजीत को 44 रन पर एलबीडब्लयू आउट कर बिहार को पहला झटका दिया। छह ओवर बाद ही गुरिंदर ने एक बार फिर शशि राठौर (00) के रूप में एक ओर विकेट चटकाया। इसके बाद उन्होंने खतरनाक दिख रहे कुमार निशांत को 70 रन पर आउट किया।

इस समय बिहार का स्कोर तीन विकेट पर 127 रन हो गया था। रमन बिश्नोई ने बाबुल कुमार को 21 के निजी स्कोर पर आउट किया। दूसरे छोर पर रहमत उल्लाह पारी संभालते रहे। जसकरनदीप ¨सह ने मैच में उस समय रोमांच पैदा कर दिया, जब उन्होंने अपने स्पैल में दो विकेट चटकाए। पहले उन्होंने विकेटकीपर बल्लेबाज विकाश रंजन को पांच और उसके बाद कप्तान आशुतोष अमन को तीन के निजी स्कोर पर चलता किया, परन्तु कोई गेंदबाज रहमत उल्लाह को आउट करने में सफल नहीं रहा। गुरिंदर ने 68 रन देकर तीन विकेट चटकाए, जबकि जसकरनदीप ¨सह ने दो विकेट लिए। रमन बिशनोई को एक ही विकेट से संतोष करना पड़ा।

इस रणजी सत्र का पहला तिहरा शतक तरुवर कोहली के नाम

तरुवर कोहली रणजी ट्रॉफी के वर्तमान सत्र में तिहरा शतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज बन गए। उनकी नाबाद 307 रन की पारी से मिजोरम ने अरुणाचल प्रदेश के खिलाफ रणजी ट्रॉफी प्लेट ग्रुप मैच में पहली पारी में 277 रन की बड़ी बढ़त हासिल की, लेकिन इसके बावजूद मैच ड्रॉ के रूप में खत्म हुआ। कोहली ने अपनी पारी में 408 गेंदें खेलीं और 26 चौके लगाए। कप्तान केबी पवन ने भी 102 रन बनाए, जिससे मिजोरम ने नौ विकेट पर 620 रन बनाकर पहली पारी घोषित की। जवाब में जब चौथे दिन मैच ड्रॉ करने का फैसला किया गया तो अरुणाचल प्रदेश ने अपनी दूसरी पारी में पांच विकेट पर 417 रन बनाए थे। उसकी ओर से विकेटकीपर बल्लेबाज राहुल दलाल (नाबाद 205) ने दोहरा शतक जड़ा।

 

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस