जागरण संवाददाता, कानपुर। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) की ओर से आयोजित सबसे बड़ी घरेलू श्रृंखला रणजी के नाकआउट मुकाबलों की शुरुआत छह जून से बेंगलुरू में हो रही है। यहां उप्र, कर्नाटक के खिलाफ जीत हासिल कर वर्ष 2005-06 से चले आ रहे रणजी खिताब के सूनेपन को खत्म करने का प्रयास करेगी। कर्नाटक के खिलाफ होने वाले नाकआउट मैच में उप्र से भारतीय टीम के चाइनामैन कुलदीप यादव और तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को टीम में शामिल किया जा सकता है। इसके लिए उप्र क्रिकेट एसोसिएशन (यूपीसीए) योजना बना रहा है।

रणजी का खिताब हासिल करने के लिए इस बार उप्र की टीम पूरी तैयारी के साथ उतरना चाहती है। आइपीएल के 15वें सीजन में शानदार गेंदबाजी कर कुलदीप व भुवनेश्वर खुद को साबित कर चुके हैं। जिसके चलते इन खिलाडि़यों का चयन साउथ अफ्रीका के साथ होने वाली टी-20 सीरीज के लिए हुआ है। पूर्व खिलाडि़यों के मुताबिक, बल्लेबाजी के साथ गेंदबाजी में माहिर इन खिलाडि़यों के शामिल होने से निश्चित रूप से उप्र अन्य टीमों से मजबूत होगी।

हालांकि कमला क्लब में पिछले कई दिनों से तैयारी कर रही उप्र की टीम जल्द लखनऊ के इकाना स्टेडियम में नाकआउट की तैयारी करने उतरेगी। उप्र से चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव और तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार भी शामिल हो सकते हैं। कोरोना संक्रमण और आइपीएल मैचों के चलते इस बार रणजी का आयोजन दो चरणों में किया गया है।

अब दूसरे चरण में रणजी के चार क्वार्टर फाइनल छह से 10 जून तक खेले जाएंगे। इसके क्वार्टर फाइनल में बंगाल का सामना झारखंड, मुंबई की भिड़ंत उत्तराखंड, कर्नाटक का मुकाबला उप्र और अंतिम क्वार्टर फाइनल में पंजाब और मध्य प्रदेश आमने-सामने होगी।

 

Edited By: Viplove Kumar