मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। India vs West Indies Test Series: वेस्टइंडीज को टी20 और वनडे सीरीज में हराने के बाद अब टीम इंडिया की निगाहें दो मैचों की टेस्ट सीरीज पर हैं। आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा होने की वजह से कप्तान विराट कोहली की इस टेस्ट सीरीज में खासी दिलचस्पी हो गई है। 

वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला गुरुवार 22 अगस्त से एंटीगा के नोर्थ साउंड ग्राउंड पर होना है। सीरीज के पहले टेस्ट मैच में टीम के बोलिंग कॉम्बिनेशन की वजह से एक गेंदबाज को बाहर बिठाया जा सकता है। इस गेंदबाज है नाम है रविंचंद्रन अश्विन जो प्लेइंग इलेवन से बाहर हो सकते हैं। 

कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री अनुभवी ऑफ स्पिनर आर अश्विन की जगह रिस्ट स्पिनर कुलदीप यादव को मौका दे सकते हैं। इसके अलावा दूसरे स्पिनर के तौर पर रवींद्र जडेजा होंगे। वहीं, तेज गेंदबाज के रूप में इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह को टीम में जग मिल सकती है। 

ये भी पढ़ेः टीम इंडिया के बैटिंग कोच की रेस में शामिल है ये दिग्गज, लेकिन रवि शास्त्री नहीं चाहते...

दरअसल, विराट कोहली विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर रिषभ पंत को मौका देना चाहते हैं। ऐसे में एक गेंदबाज को कम किया जाएगा। यहां तक कि रिद्धिमान साहा को भी अपने कमबैक के लिए इंतजार करना होगा, जो काफी समय के बाद चोट से उबरने के बाद टेस्ट क्रिकेट में वापसी करने वाले थे।  

आपकी जानकारी के लिए बता दें, आर अश्विव ने इससे पहले ऑस्ट्रेलिया में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी 2018-19 में सिर्फ एक टेस्ट मैच एडिलेड में खेला था। हैरान करने वाली बात ये भी है कि वेस्टइंडीज के पिछले दौरे पर आर अश्विन टेस्ट सीरीज में प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे थे। अश्विन ने साल 2016 में कैरिबियाई दौरे पर 4 टेस्ट मैचों में 17 विकेट झटके थे और दो शतक जड़े थे।

इसके अलावा शनिवार 17 अगस्त से सोमवार 19 अगस्त तक वेस्टइंडीज ए के खिलाफ खेले गए तीन दिवसीय अभ्यास मैच में आर अश्विन ने 8 ओवर गेंदबाजी की, जिसमें 4 ओवर मेडन फेंके और 18 रन देकर 1 विकेट चटकाया। इसके अलावा बल्ले से अश्विन ने 48 गेंदों में 10 रन बनाए। 

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप