नई दिल्ली, पीटीआइ। ICC Women's T20 World Cup 2020: पूनम यादव की अंगुली में चोट ने उनके साथी खिलाड़ियों को भी सकते में डाल दिया था और इससे भारतीय टीम की विश्व की तैयारियों पर भी भारी असर पड़ा। लेकिन पूनम ने हिम्मत नहीं हारी, उन्होंने अपनी अंगुली में प्लेट डलवाई और समय के साथ अपनी लड़ाई जीती जिसके बाद अब उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेहतरीन प्रदर्शन कर अपनी टीम को जीत दिलाई।

आगरा की 28 वर्षीय स्पिनर की 26 दिसंबर को राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में अंगुली चोटिल हो गई थी। इससे भारतीय टीम मुश्किलों में फंस गई क्योंकि दो महीने बाद विश्व कप था। पूनम त्रिकोणीय सीरीज में नहीं खेली क्योंकि टीम उन्हें विश्व कप के लिए तैयार करना चाहती थी। टीम इंडिया के एक सूत्र ने बताया कि जिस तरह की पूनम की चोट थी, उससे तय था कि वह त्रिकोणीय सीरीज तक फिट नहीं हो पाएंगी।

टूटी अंगुली के साथ गईं ऑस्ट्रेलिया

इसके बाद भी उनको ऑस्ट्रेलिया साथ ले जाने का फैसला लिया गया, जिससे कि पूनम के दिमाग में कुछ नकारात्मक बाते नहीं आएं। इससे उन्हें अपनी चोट को ठीक करने में भी अच्छा समय मिला। इसका सबसे बड़ा श्रेय टीम फिजियो ट्रेसी फर्नांडिस को जाता है। यह बहुत गहरी चोट थी क्योंकि वह अपनी उल्टे हाथ की अंगुली तुड़वा बैठी थी। इसके बाद लग रहा था कि वे शायद रहते उनकी अंगुली ठीक नहीं हो, लेकिन उन्होंने मेहनत की ओर अपनी अंगुली को ठीक किया।  

भगवान का शुक्र है कि यह उनके गेंदबाजी हाथ में नहीं थी। एक प्लेट उनकी अंगुली में डाली गई और यह अब भी वहीं है। चोट की स्थिति को भूलकर पूनम खुश थी कि उन्हें दोबारा मैदान में उतरने का मौका मिला। पूनम ने कहा था कि मैं फिजियो और अपनी टीम की साथियों की शुक्रगुजार हूं। ऐसी चोट से वापसी करना मुश्किल था। पूनम ने उद्घाटन मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार विकेट लेकर टीम को जीत दिलाई थी।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस