लाहौर, आईएएनएस। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता और कोच मिस्बाह उल हक के खिलाफ लाहौर हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की गई है। यह याचिका मिस्बाह को पाकिस्तान के चयनकर्ता और कोच के अलग-अलग पद पर एक साथ काम करने से रोकने के लिए की गई है।

पाकिस्तान क्रिकेट में इन दिनों भूचाल आया हुआ है वजह है सरफराज अहमद को टेस्ट और टी20 टीम की कप्तानी से हटाया जाना। इस बारे में मीडिया में लगातार बातें की जा रही है। सोमवार को ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए घोषित टेस्ट और टी20 टीम से सरफराज की छुट्टी कर दी गई। उनको दोनों में से किसी भी टीम में जगह नहीं दी गई उनकी जगह मोहम्मद रिजवान को विकेटकीपर की भूमिका दी गई है।

पाकिस्तान के अखबार द डॉन के मुताबिक सैयद अली जाहिद बुखारी ने एक आवेदन टीम के मुख्य चयनकर्ता, बल्लेबाजी कोच और मुख्य कोच की भूमिका अदा कर रहे पूर्व कप्तान मिस्बाह के खिलाफ की गई है।

सैयद ने अपने आवेदन में कहा गया है कि वर्तमान टीम का श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज में प्रदर्शन बेहद खराब रहा। टीम के प्रदर्शन पर और भी बुरा प्रभाव पड़ेगा अगर मिस्बाह को बतौर मुख्य कोच काम करते रहेंगे। उन्होंने कोर्ट से इस बात की दर्खास्त की है कि उनको पद पर बने रहने को लेकर एक स्टे ऑर्डर जारी किया जाए।

कोर्ट ने कहा है कि यह तो निर्धारित नहीं किया जा सकता कि कौन टीम में खेलेगा। लेकिन जज ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को इस बारे में एक नोटिस जारी किया है और अगले हफ्ते तक जवाब देने के लिए कहा है।

मुख्य याचिका में वकील का कहना है कि मिस्बाह के पास टीम का कोच बनने के लिए प्रयाप्त अनुभव नहीं है। सैयद का साफ तौर पर यह मानना है कि मिस्बाह पूर्व कोच मिकी आर्थर की जगह नियुक्ति मिना योग्यता के और गुपचुप तरीके से की गई है।

 

Aus-vs-Ind

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021