लाहौर पीटीआइ। पाकिस्तान क्रिकेट में कोरोना वायरस संक्रमण की जांच को लेकर हुए विवाद के बाद अब सबकुछ सामान्य नजर आ रहा है। पिछले सप्ताह इंग्लैंड रवाना होने से पहले कोविड--19 परीक्षण में पॉजिटिव पाए गए छह पाकिस्तानी क्रिकेटरों का अब तीन दिन में दूसरी बार परीक्षण निगेटिव आया है, जिससे वे टीम के साथ इंग्लैंड में जुड़े सकते हैं। अब पीसीबी इनके इंग्लैंड जाने का इंतजाम करेगा।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) द्वारा कराए गए ताजा परीक्षण में सलामी बल्लेबाज फखर जमां, ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज, लेग स्पिनर शादाब खान, विकेटकीपर मोहम्मद रिजवान, तेज गेंदबाज वहाब रियाज और मुहम्मद हसनैन को निगेटिव पाया गया।

पीसीबी ने मंगलवार को कहा, '26 जून को पहले निगेटिव परीक्षण के बाद खिलाड़ियों का 29 जून को दोबारा परीक्षण किया गया।' इसके साथ ही पीसीबी के साथ हफीज का विवाद भी खत्म हो गया। हफीज का पहला टेस्ट पॉजिटिव आया था, लेकिन इसके बाद हफीज ने निजी अस्पताल में जो टेस्ट कराया था, वह निगेटिव आया था और इससे पीसीबी नाराज हो गया था। पीसीबी की नाराजगी इस बात पर थी कि हफीज आइसोलेशन में जाने के बजाय निजी अस्पताल क्यों गए। ऐसे में हफीज का इंग्लैंड दौरा पीसीबी के दूसरे परीक्षण पर निर्भर था, जो अब निगेटिव आया है।

वहीं स्पिनर काशिफ भट्टी, तेज गेंदबाज हैरिस राऊफ, इमरान खान तथा बल्लेबाज हैदर अली अभी भी आइसोलेशन में हैं। शनिवार को इंग्लैंड रवाना होने से पहले दौरे के लिए चुने गए खिलाड़ियों में से 10 को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया था।

पाकिस्तान की 20 सदस्यीय टीम रविवार को इंग्लैंड रवाना हो गई, जहां उसे अगस्त और सितंबर में तीन टेस्ट और तीन टी--20 मैच खेलने हैं। टीम वॉरेस्टरशायर में है, जहां वह 13 जुलाई तक पृथकवास में रहेगी। सीनियर बल्लेबाज शोएब मलिक को पीसीबी ने बाद में टीम से जुड़ने की छूट दी है। वह अपने परिवार के साथ यूएई में समय बिताना चाहते थे।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस