नई दिल्ली, जेएनएन। इंग्लैंड और वेल्स में खेले गए World Cup 2019 में टीम के खराब प्रदर्शन के बाद एक नेशनल टीम के हेड कोच और बाकी सपोर्ट स्टाफ पर गाज गिरी है। हेड कोच समेत बाकी कोचिंग स्टाफ की छुट्टी कर दी गई है। जी हां, हम बात कर रहे हैं पाकिस्तान टीम की जो वर्ल्ड कप के 12वें सीजन के सेमीफाइनल से पहले ही बाहर हो गई थी। 

पाकिस्तान की टीम ने वर्ल्ड कप 2019 में 9 लीग मैचों में सिर्फ 5 मुकाबले जीते थे, जबकि एक मैच बेनतीजा रहा था। इस तरह पाकिस्तान की टीम के कुल 11 अंक थे और नेट रनरेट के आधार पर टीम प्लेऑफ में जगह नहीं बना पाई थी। इतने ही अंक और बेहतर रनरेट के दम पर न्यूजीलैंड की टीम सेमीफाइनल में पहुंची थी।

पाकिस्तान की वर्ल्ड कप की परफॉर्मेंस और बीते कुछ सालों की परफॉर्मेंस को देखते हुए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड यानी पीसीबी ने पाकिस्तान की सीनियर टीम के हेड कोच मिकी आर्थर, बोलिंग कोच अजहर महमूद, बैटिंग कोच ग्रांट फ्लोवर और ट्रेनर ग्रांट लुडेन को नया कार्यकाल देने से हाथ खींच लिए हैं। 

बता दें कि मिकी आर्थर समेत बाकी सपोर्ट स्टाफ का कार्यकाल इसी 15 अगस्त को समाप्त हो रहा है। बुधवार को पीसीबी की क्रिकेट कमेटी ने इनका कॉन्ट्रेक्ट रिन्यू नहीं करने का फैसला किया है। इसके अलावा पीसीबी की क्रिकेट कमेटी ने ये भी निर्णय लिया है कि जल्द ही नए हेड कोच और सपोर्ट स्टाफ के लिए विज्ञापन जारी किया जाएगा। 

गौरतलब है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने जब हेड कोच मिकी आर्थर से परफॉर्मेंस रिव्यू मीटिंग ली थी तो कोच ने कप्तान सरफराज अमहद को हटाने की सिफारिश की थी। इसके अलावा खुद को दो साल टीम के साथ बने रहने के लिए कहा था। कोच मिकी आर्थर ने बताया था कि उनके रहते हुए पाकिस्तान की टीम ने साल 2017 में भारत को हराकर आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीती थी। इसके अलावा पाकिस्तान की टीम काफी समय से उनके कोचिंग कार्यकाल में टी20 इंटरनेशनल फॉर्मेट में नंबर वन बनी हुई है। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस