कराची, पीटीआइ। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) जुलाई में इंग्लैंड दौरे पर जाने के लिए तैयार हो गया है। पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच इस दौरे पर टेस्ट और टी20 मैचों की सीरीज होगी, लेकिन कोरोना वायरस के बीच बोर्ड ने कहा है कि खिलाड़ियों पर किसी भी प्रकार का दबाव नहीं होगा कि उन्हें इंग्लैंड जाना ही जाना है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड खिलाड़ियों को इस दौरे के लिए सहमति देने के लिए मजबूर नहीं करेगा। खिलाड़ियों को खुद इस महामारी के बीच फैसला करना है।

पीसीबी के चीफ एग्जक्यूटिव वसीम खान ने एक न्यूज चैनल को बताया है कि पाकिस्तान तीन टेस्ट और तीन टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के दौरे के लिए 'सैद्धांतिक रूप से' इंग्लैंड दौरे के लिए सहमत हो गया है। वसीम खान ने कहा है, "हमने (पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड) दौरे के बारे में शुक्रवार को ईसीबी के साथ एक बहुत विस्तृत और व्यापक चर्चा की थी और पीसीबी ने अब जुलाई में इंग्लैंड में अपनी क्रिकेट टीम भेजने के लिए सैद्धांतिक रूप से सहमति दे दी है।"

शुक्रवार को वीडियो लिंक के माध्यम से आयोजित इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के साथ चर्चा के दौरान, यह सहमति भी हुई कि पाकिस्तान और इंग्लैंड की टीम खाली स्टेडियम में मैच खेलेगी। इसी मैदान के अंदर एक होटल भी है, लेकिन खिलाड़ियों को उनकी इच्छा के विरुद्ध जाने के लिए नहीं कहा जाएगा। वसीम खान ने कहा, "अगर कोई खिलाड़ी नहीं जाना चाहता है, तो हम उनके फैसले को स्वीकार करेंगे और कोई अनुशासनात्मक कार्रवाई नहीं करेंगे।"

वसीम खान ने कहा कि 25 खिलाड़ी जुलाई के पहले सप्ताह में चार चार्टर्ड उड़ानों से इंग्लैंड जाएंगे और खिलाड़ियों को क्वारंटाइन में रखा जाएगा। खान ने कहा, "मैनचेस्टर और साउथेम्प्टन टेस्ट सीरीज के लिए संभावित स्थान होंगे और ईसीबी जल्द ही तीसरे स्थान की घोषणा करेगी।" उन्होंने ये भी कहा है कि मेजबान देश द्वारा बायो-सिक्योर व्यवस्था की जाएगी और पूरे दौरे में मेडिकल स्टाफ हमारी टीम के साथ रहेगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस