नई दिल्ली, पीटीआइ। विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) की 2016 की रिपोर्ट में रहस्योद्घाटन किया गया है कि बीसीसीआइ के 153 मान्यता प्राप्त क्रिकेटरों में से एक भारतीय क्रिकेटर का परीक्षण प्रतिबंधित दवा के सेवन के लिए पॉजिटिव पाया गया है। इस क्रिकेटर के नाम का रहस्योद्घाटन अभी नहीं किया गया है।

वह भारत अंडर-19 के पूर्व खिलाड़ी प्रदीप सांगवान के बाद डोपिंग परीक्षण में सकारात्मक पाया जाने वाला दूसरा भारतीय क्रिकेटर होगा। सांगवान 2013 में तब कोलकाता नाइटराइडर्स की तरफ से खेल रहे थे जब उस साल के इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) के दौरान उनका परीक्षण सकारात्मक पाया गया था। 

2016 के डोपिंग रोधी परीक्षण आंकड़ों के अनुसार, बीसीसीआइ के तहत पंजीकृत 138 क्रिकेटरों का प्रतियोगिता के समय परीक्षण किया गया, जिनमें से एक क्रिकेटर का परीक्षण सकारात्मक पाया गया। यह नतीजा निकाला जा सकता है कि इस क्रिकेटर का परीक्षण बीसीसीआइ की घरेलू प्रतियोगिताओं जैसे रणजी ट्रॉफी, दिलीप ट्रॉफी, आइपीएल या ईरानी ट्रॉफी के दौरान सकारात्मक पाया गया, क्योंकि यह प्रतियोगिता के दौरान हुआ था। यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर भी हो सकता है और नहीं भी, लेकिन इतना तय है कि यह आइसीसी प्रतियोगिता के दौरान नहीं हुआ, क्योंकि अमूमन विश्व क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था अनिवार्य तौर पर मीडिया विज्ञप्ति भेजती है। 

उसी दौरान 15 प्रतियोगिता से इतर परीक्षण भी किए गए और उनका परीक्षण नकारात्मक रहा। बीसीसीआइ के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा, 'हमें अभी तक वाडा से कोई रिपोर्ट नहीं मिली है, इसलिए हम क्रिकेटर का नाम बताने की स्थिति में नहीं हैं।'

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस