न ई दिल्ली। क्रिकेट में बल्लेबाज आउट तो कई तरीकों से होता है, लेकिन एकाध निर्णय या आउट होने का तरीका ऐसा होता है जिसे व्यक्ति वर्षों बाद भी नहीं भूल पाता है। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच शुक्रवार को खत्म हुए नागपुर टेस्ट में रिद्धिमान साहा जिस तरीके से आउट हुए उससे 9 वर्षों पहले हुए एक बल्लेबाज के अजीब तरीके से आउट होने का किस्सा याद आ गया। 13 जनवरी 2006 को ऑस्ट्रेलिया के एंड्रयू साइमंड्स त्रिकोणीय वनडे सीरीज के पहले मैच में श्रीलंका के खिलाफ जिस खराब तरीके से आउट हुए थे, वह उन्हें और उस मैच को देखने वाले हर फैन को हमेशा याद रहेगा।

मेलबर्न के डॉकलैंड्स स्टेडियम में टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया 4 विकेट पर 238 रन बना चुका था। जेहान मुबारक 40वां ओवर डाल रहे थे और उनकी दूसरी गेंद पर साइमंड्स (66) ने आगे निकलकर स्ट्रेट ड्राइव लगाया, नॉन स्ट्राइकर छोर पर खड़े माइकल क्लार्क ने गेंद से बचने का प्रयास किया लेकिन गेंद उनके जूते से टकराकर उछली और मिडविकेट पर तिलकरत्ने दिलशान ने आसान कैच लपक लिया। कुछ क्षणों के लिए तो किसी को कुछ भी समझ में नहीं आया और साइमंड्स मुस्कुराकर क्लार्क से कुछ कहते हुए पैवेलियन लौट गए।

ऑस्ट्रेलिया ने मैच में 5 विकेट पर 318 रन बनाए और इसके जवाब में श्रीलंका 7 विकेट पर 202 रन ही बना पाया। इस तरह घरेलू टीम ने यह मुकाबला 116 रनों से जीत लिया।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern