जागरण संवाददाता, कानपुर। न्यूजीलैंड के खिलाफ गुरुवार से शुरू हुए दो टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में श्रेयस अय्यर को पर्दापण का मौका मिला। वह भारत से अंतरराष्ट्रीय टेस्ट कैप हासिल करने वाले 303वें खिलाड़ी बने। उन्हें यह कैप दिग्गज क्रिकेटर रहे लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर ने सौंपी। वे कानपुर टेस्ट मैच में बतौर कमेंट्रेटर आए हैं। आमतौर पर टीम के खिलाड़ी को डेब्यू कैप कोच या कप्तान के हाथों सौंपी जाती थी, लेकिन नए कोच राहुल द्रविड़ के आने के बाद दो दशक पहले पूर्व भारतीय खिलाड़ियों से कैप दिलाने की शुरुआत फिर की गई।

न्यूजीलैंड सीरीज से बतौर कोच अपनी नई पारी की शुरुआत कर रहे कोच राहुल द्रविड़ के मार्गदर्शन में भारतीय टीम टी-20 सीरीज में कीवियों का सफाया करने में सफल रही। द्रविड़ के आने से युवाओं सहित अनुभवी खिलाड़ियों से सजी भारतीय टीम ने मध्यक्रम में बल्लेबाजी के लिए श्रेयस अय्यर को मौका दिया। वहीं, न्यूजीलैंड ने भी पहले टेस्ट में भारत के खिलाफ अपने एक खिलाड़ी को पहली बार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण कराया। भारत के खिलाफ स्पिन विकेट पर कीवी टीम ने अपने अर्थोडोक्स स्पिनर व बाएं हाथ के बल्लेबाज भारतीय मूल के रचिन रवींद्र को खिलाया है। रचिन ने अभी तक केवल छह टी-20 मैच खेले हैं। उन पर इस मैच में न्यूजीलैंड के स्टार स्पिनर मिचेल सेंटनर की कमी पूरी करने का दबाव रहेगा।

आपको बता दें कि अपने डेब्यू मैच में श्रेयस अय्यर ने टीम को बिल्कुल भी निराश नहीं किया और कानपुर टेस्ट मैच के पहले दिन अर्धशतकीय पारी खेलते हुए नाबाद 75 रन बनाते हुए पवेलियन लौटे। उनकी पारी ने भारतीय टीम को संभालने का काम किया और टीम कुछ मजबूत स्थिति में पहले दिन नजर आई। श्रेयस के साथ शुभमन गिल और रवींद्र जडेजा ने भी टीम के लिए पहले दिन अर्धशतक लगाया। भारत ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक 4 विकेट पर न्यूजीलैंड के खिलाफ 258 रन बनाए। 

Edited By: Sanjay Savern