मुंबई, प्रेट्र: बीसीसीआइ के कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी से जब चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान विराट कोहली और अनिल कुंबले के बीच मतभेद के बारे में पूछा गया था तो उन्होंने इस बारे में अनभिज्ञता जाहिर की थी, लेकिन सोमवार को उन्होंने अपने इस बयान का बचाव किया।

चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान अमिताभ चौधरी इंग्लैंड में थे और उन्होंने इन दोनों के बीच गंभीर मतभेदों का दावा करने वाली रिपोर्ट को खारिज किया था, लेकिन आखिर में यह मतभेद खुलकर सामने आ गए और कुंबले ने मुख्य कोच पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने कहा, ‘यह बयान कि आग के बिना धुआं नहीं उठता तब के हालात के हिसाब से दिया गया था, क्योंकि तब मैंने कहीं कोई धुआं नहीं देखा था।’

चौधरी ने यह भी दोहराया कि नए कोच पर अंतिम फैसला सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण वाली क्रिकेट सलाहकार समिति ही करेगी।

बीसीसीआइ पहले ही स्पष्ट कर चुकी है कि कोच की नियुक्ति श्रीलंका के अगले महीने होने वाले दौरे से पहले होगी। भारतीय टीम इस समय बिना कोच के वेस्टइंडीज में है, जिसमें उसके साथ बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ और क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर अपनी जिम्मेदारी संभाले हुए हैं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस