नई दिल्ली, जेएनएन। महेंद्र सिंह धौनी जब टीम इंडिया के कप्तान थे तब उन्हें उनके अनूठे फैसलों के लिए जाना जाता था। चाहे फिर वो 2007 टी-20 विश्व कप का आखिरी ओवर जोगिंद्र शर्मा से करवाना हो या फिर 2011 विश्व कप के फाइनल में खुद बल्लेबाज़ी के लिए ऊपरीक्रम पर आना हो। भले ही धौनी क्रिकेट के मैदान शांत रहते हों, लेकिन असल जिंदगी में वो काफी चंचल स्वभाव के हैं। क्या आपको पता है कि धौनी एक बार भारतीय टीम की बस के ड्राइवर भी बन गए थे।

धौनी बने गए ड्राइवर

जी हां, पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने अपनी आत्मकथा '281 ऐंड बियॉन्ड' में अपने साथी खिलाड़ियों से जुड़े कई रोचक किस्से लिखे हैं। इन्हीं में से एक किस्सा जो लक्ष्मण ने महेंद्र सिंह धौनी के बारे में लिखा है। लक्ष्मण ने लिखा है कि मेरे साथ हमेशा रहने वाली यादों में से एक याद तब की है, जब महेंद्र सिंह धौनी ने भारतीय टीम की बस चलाई थी। लक्ष्मण ने बताया है कि यह वाकया उनके 100वें टेस्ट मैच के दौरान हुआ, जब धौनी नागपुर में टीम की बस को होटल तक चलाकर ले गए थे।

कुंबले के रिटायरमेंट के बाद चलाई थी धौनी ने बस

लक्ष्मण ने अपनी आत्मकथा में लिखा है- 'मुझे अपनी आंखों पर भरोसा नहीं हो रहा था। टीम का कप्तान बस चलाकर हमें ग्राउंड से वापस ले जा रहा था। अनिल कुंबले के रिटायरमेंट के बाद यह उनका (धौनी का) बतौर कप्तान पहला टेस्ट मैच था।' इसके साथ ही उन्होंने धौनी को लेकर लिखा, 'ऐसा लग रहा था कि वह दुनिया से बेपरवाह थे। वह ऐसे ही थे, चुलबुले और जमीन से जुड़े हुए।'

क्रिकेटर से कमेंटेटर बने लक्ष्मण के मुताबिक, धौनी ने कभी आनंद और चंचलता को नहीं खोया। उन्होंने बताया,'मैं कभी भी धौनी जैसे किसी इंसान से नहीं मिला। जब वह टीम में आए तब उनका कमरा हर किसी के लिए खुला रहता। मेरे आखिरी टेस्ट मैच तक वह भारते के सफलतम कप्तान बन चुके थे, तब भी वह सोने से पहले दरवाजा बंद नहीं करते थे।'

लक्ष्मण ने अपने रिटायरमेंट के समय से जुड़ी बातों को भी अपनी किताब में लिखा है। उन्होंने लिखा है- 'जब मैंने मीडिया को अपने रिटायर होने के फैसले की जानकारी दी तो सबसे पहला सवाल था- क्या आपने इस बारे में अपने साथी खिलाड़ियों को बताया है? मैंने जवाब दिया- हां। फिर पूछा गया- क्या आपने धौनी से बात की, उन्होंने क्या कहा? मैंने मजाक में कहा- सब जानते हैं कि धौनी तक पहुंचना कितना मुश्किल है।' लक्ष्मण ने बताया कि इसके बाद मीडिया में खबरें आने लगीं कि उन्होंने धौनी के साथ मतभेदों की वजह से रिटायर होने का फैसला लिया है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस