नई दिल्ली, पीटीआइ। बीसीसीआइ के प्रशासकों की समिति (सीओए) और बीसीसीआई पदाधिकारियों के बीच होने वाली बैठक में भारत के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन की लंबी बकाया राशि पर भी बातचीत की जाएगी। यह बैठक मंगलवार को हो रही है। 

समझा जाता है कि अजहर ने सीओए को चिट्ठी लिखकर कहा है कि आंध्र हाई कोर्ट ने पांच साल पहले उनके पक्ष में फैसला सुनाते हुए उन्हें फिक्सिंग के तमाम आरोपों से बरी कर दिया था। उन्होंने अपने बकाया के बारे में भी पूछताछ की जो करोड़ों रुपये बैठते हैं। 

बीसीसीआइ के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, 'हां,अजहरुद्दीन के मसले पर सीओए की बैठक में बात की जाएगी। फिलहाल अजहर पर कोई प्रतिबंध नहीं है और वह बीसीसीआइ के समारोहों में भाग ले रहे हैं। आखिरी बार वह 2000 में भारत के लिए खेले थे। उन्हें 17 साल से पेंशन नहीं मिली और एकमुश्त अनुग्रह राशि भी रुकी हुई है। सीओए इस बारे में फैसला लेगा।'

आपको बता दें कि ठीक एक दिन पहले केरल हाई कोर्ट ने एस श्रीसंत को आइपीएल 2013 के स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों से बरी कर दिया है। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Bharat Singh