कोलकाता, पीटीआइ। भारतीय क्रिकेट टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली का अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट छोड़कर इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट खेलने का फैसले पर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट माइकल क्लार्क आश्चर्यचकित है। क्लार्क ने कहा, ‘मैं सचमुच काफी हैरान हूं। मैं नहीं जानता क्यों, यह विराट का फैसला है। मुझे लगता है कि टेस्ट मैच एक टेस्ट मैच होता है। मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि हम किसके खिलाफ खेल रहे हैं। यह आपकी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। अपने देश का प्रतिनिधित्व करना दुनिया में सबसे विशेष अहसास है। मैं चाहूंगा कि वह वापस लौटकर आए और टेस्ट खेले।’

क्लार्क ने हालांकि कोहली के काउंटी क्रिकेट खेलने के फैसले का समर्थन किया और कहा कि इससे साफ संदेश मिलेगा कि इंग्लैंड में उनका लक्ष्य सिर्फ जीतने का है।

आपको बता दें कि भारतीय टीम 14 जून से अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मैच खेलेगी। ये ऐतिहासिक टेस्ट मैच होगा क्योंकि अफगानिस्तान की टीम पहली बार टेस्ट मैच खेलेगी। ऐसे में विराट कोहली के काुंटी क्रिकेट खेलने के फैसले से बीसीसीआइ के कुछ अधिकारी भी नाराज़ थे, लेकिन कोहली के सरे काउंटी क्रिकेट क्लब के साथ करार करने के बाद ये साफ हो गया था कि वो अब अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले इस टेस्ट मैच का हिस्सा नहीं होंगे। 

इसके बाद जब इस टेस्ट मैच के लिए भारतीय टीम के खिलाड़ियों का एलान किया गया तो चयन समिति ने अजिंक्य रहाणे को कोहली की जगह पर कप्तानी सौंपी। क्योंकि कोहली ने पूरे जून महीने के लिए सरे के साथ करार किया है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal