मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

कराची। अब इसे दाउद के धमकी का नतीजा कहें या कुछ और पर सबसे बड़ी बात जो सामने आई है वो ये है कि पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद के साथ अपनी लड़ाई खत्म कर ली है। इन दोनों के बीच कुछ दिनों पहले शब्दों के माध्यम से जमकर लड़ाई हुई थी।

इस लड़ाई को लेकर मियांदाद का कहना है कि मैंने गुस्से में आकर अफरीदी को भलाबुरा कहा था। मैं अपने शब्दों को वापस लेता हूं। गौरतलब है कि मियांदाद ने अफरीदी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि वो पैसों के लिये मैच फिक्स करते हैं।

अफरीदी ने भी कहा कि वो मियांदाद को हमेशा सम्मान की नजर से देखते हैं। उन्होंने जो कुछ भी कहा था उससे मुझे और मेरे परिवार को काफी तकलीफ हुई थी मगर मैं समझ सकता हूं कि मैंने जो कुछ भी उनके खिलाफ कहा था वो सही नहीं था। मैं उनसे अपने कहे के लिए माफी मांगता हूं।

इस लड़ाई को दोनों क्रिकेटरों ने एक-दूसरे को गले लगाकर खत्म किया क्योंकि इससे पाकिस्तान क्रिकेट की छवि को नुकसान पहुंचा था साथ ही फिक्सिंग के आरोप के बाद एक नया विवाद खड़ा हो गया था। इन दोनों क्रिकेटरों ने कराची में मिलकर इस विवाद को सुलझा लिया। इस दौरान दोनों के मित्र और रिश्तेदार भी वहां मौजूद थे।

दोनों क्रिकेटरों के बीच इस विवाद के खत्म होने पर पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर वसीम अकरम ने कहा कि मैं इससे काफी खुश हूं कि दोनों ने आपसी विवाद को सुलझा लिया। इन दोनों के विवाद से पाकिस्तान क्रिकेट के छवि को काफी नुकसान पहुंचता।

इसके अलावा इकबाल मो. अली ने कहा कि अब सारी बातें सामान्य हो गई हैं। अफरीदी मियांदाद के छोटे भाई की तरह हैं और अफरीदी भी मियांदाद का काफी सम्मान करते हैं। आपको बता दें कि अफरीदी और मियांदाद के बीच जमकर शब्दों के माध्यम से लड़ाई हुई थी और इसके बाद दाउद ने अफरीदी को धमकी भी दी थी।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप