जागरण न्यूज नेटवर्क, नई दिल्ली। भारत में क्रिकेट को लेकर जिस तरह की दीवानगी देखी जा सकती है उतनी ही दीवानगी यहां के खिलाडि़यों के प्रति भी है। अभिनेताओं और नेताओं की तरह क्रिकेटरों को भी सोशल मीडिया में बड़ी संख्या में लोग फॉलो करते हैं और इसी दिशा में कप्तान विराट कोहली ने एक नया कीर्तिमान यहां भी रच दिया है।

विराट कोहली सोशल मीडिया पर 10 करोड़ से ज्यादा फॉलोअर्स वाले पहले क्रिकेटर बन गए हैं। दुनिया भर में फुटबॉल या टेनिस की तरह क्रिकेट लोकप्रिय नहीं है फिर भी उनके इतने फॉलोअर्स होना बड़ी बात है। दरअसल विराट कोहली के फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर कुल मिलाकर 10 करोड़ से ज्यादा फॉलोअर्स हो गए हैं।

कोहली को फेसबुक पर 3.71 करोड़, ट्विटर पर 2.9 करोड़ और इंस्टाग्राम पर करीब 3.35 करोड़ लोग फॉलो करते हैं। वहीं क्रिकेटरों में इस मामले में दूसरे नंबर पर सचिन तेंदुलकर हैं। सचिन के सोशल मीडिया पर कुल 7.17 करोड़ फॉलोअर हैं। ट्विटर पर 2.9 करोड़, इंस्टाग्राम पर 1.47 करोड़ और फेसबुक पर 2.8 करोड़ लोग उन्हें फॉलो करते हैं।

वहीं फुटबॉल की बात करें तो ट्विटर पर क्रिस्टियानो रोनाल्डो के सबसे ज्यादा 7.7 करोड़ फॉलोअर्स हैं जबकि नेमार जूनियर के ट्विटर पर 4.3 करोड़ फॉलोअर्स हैं। बता दें कि कोहली सोशल मीडिया पर काफी ऐक्टिव रहते हैं और वह अपने फॉलोअर्स का आभार भी जताते रहते हैं। अगर फेसबुक फॉलोअर्स बात करें तो यहां रोनाल्डो को 12.2 करोड़ फॉलोअर्स हैं। इसके बाद मेसी के 8.9 करोड़ फॉलोअर्स हैं।

फेसबुक पर कोहली सबसे ज्यादा फॉलोअर्स रखते हैं और इसके बाद क्रिकेटर के तौर पर सचिन का नंबर आता है। सचिन तेंदुलकर को फेसबुक पर 2.8 करोड़ लोग फॉलो करते हैं। इंस्टाग्राम पर भी रोनाल्डो के ही सबसे ज्यादा फॉलोअर्स हैं।

इंस्टाग्राम पर कोहली को 3.3 करोड़ लोग फॉलो करते हैं तो वहीं सचिन 1.47 करोड़ फॉलोअर्स के साथ काफी पीछे हैं। इसके बाद महेंद्र सिंह धौनी हैं जिनके 1.3 करोड़ फॉलोअर्स हैं।

कौशल और तेजी का मिश्रण हमारे गेंदबाजों की ताकत: शमी

भारतीय क्रिकेटर मुहम्मद शमी ने कहा कि यह भारत के लिए गर्व की बात है कि विश्व कप में टीम की गेंदबाजी उसकी ताकत के रूप में जानी जा रही है। भारत में अभी तक बल्लेबाजों का राज हुआ करता था, लेकिन शमी को गर्व है कि इस टीम के पास भारत का अभी तक का सबसे अच्छा तेज गेंदबाजी आक्रमण है।

शमी ने कहा कि बीते 20-30 साल में, अगर आप भारतीय क्रिकेट का इतिहास देखेंगे तो हमेशा बल्लेबाजों का दबदबा रहा है। आप इसके लिए गेंदबाजों को दोष नहीं दे सकते क्योंकि जो विकेट बनाई जाती थीं वो गेंदबाजों की मददगार नहीं होती थी। पिछले पांच-सात साल में चीजें बदलनी शुरू हुई हैं। ईमानदारी से कहूं तो इसमें एक प्रक्रिया का पालन हुआ है। यह एक रात में नहीं हुआ है। हम एक इकाई के तौर पर काम कर रहे हैं और इससे मदद मिल रही है।

कोहली ने अपनी प्रतिभा को सफलता में बदला: अप्टन

कोच गैरी क‌र्स्टन के समय भारतीय क्रिकेट टीम के मेंटल कनडिशिंग कोच रहे पैडी अप्टन का मानना है कि भारत के लिए खेलने वाले कई खिलाडि़यों में प्रतिभा थी, लेकिन विराट कोहली ने अपनी इस प्रतिभा को सफलता में तब्दील किया है। अप्टन ने कहा कि निश्चित रूप से, हमने (2011 में) प्रतिभा देखी, लेकिन भारत और विश्व में भी कई सारी प्रतिभाएं हैं।

कोहली की तरह ही अन्य क्रिकेटरों में भी प्रतिभा थी, लेकिन यह देखना आश्चर्यजनक है कि कैसे उन्होंने अपनी इस प्रतिभा को दुनिया के नंबर एक बल्लेबाज में रूप में तब्दील किया है। आइपीएल में राजस्थान रॉयल्स के कोच अप्टन का मानना है कि आगामी विश्व कप में महेंद्र सिंह धौनी, विजय शंकर या लोकेश राहुल नंबर-4 के स्थान पर बल्लेबाजी कर सकते हैं। हालांकि उन्होंने साथ ही कहा कि यह सब मैच की परिस्थितियों पर निर्भर करेगा।

उन्होंने कहा कि मेरे लिए, नंबर चार पर बल्लेबाजी कोई ज्यादा चर्चा का विषय नहीं है, लेकिन यह देखना दिलचस्प है कि मैच की किस परिस्थिति में कौन और किस स्थान पर बल्लेबाजी करना चाहता है। 50 वर्षीय अप्टन ने साथ ही कहा कि धौनी और कोहली का बल्लेबाजी करने का नजरिया अलग है।

उन्होंने कहा कि अच्छी तरह से बल्लेबाजी करने के लिए मानसिक सोच के मामले में, दोनों में एक समानता यह है कि दोनों अपने काम पर बहुत ध्यान देते हैं। वे समझते हैं कि पारी को उस गति तक कैसे पहुंचाना है, जहां से वे टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचा सकते हैं।

विश्व कप में होल्डर की नजरें रहेंगी अफगानिस्तान पर

इंग्लैंड एंड वेल्स में 30 मई से शुरू होने वाले विश्व कप में वेस्टइंडीज का नेतृत्व करने वाले कप्तान जेसन होल्डर ने कहा है कि क्रिकेट के इस महाकुंभ में उनकी नजरें अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले मैच पर रहेंगी और वह इस टीम को हराने पर आमादा हैं।

अफगानिस्तान ने बीते साल क्वालीफायर में दो बार वेस्टइंडीज को मात दी थी। यह टीस होल्डर के दिल में घर कई गई और अब वह इसका बदला लेना चाहते हैं। होल्डर ने कहा कि मैं अफगानिस्तान के खिलाफ खेलने का इंतजार कर रहा हूं, इसलिए कि उन्होंने विश्व कप क्वालीफायर्स में हमें हराया था।

उन्होंने कहा कि अगर हम दोनों टीमों के बीच के मुकाबले देखेंगे तो शायद वो हमसे आगे हैं। इसलिए मैं इस बार उन्हें हराना चाहता हूं। वह शानदार टीम है। एक ऐसी टीम जो बदलाव के दौर से गुजर रही है। उन्होंने अच्छी क्रिकेट खेली है, लेकिन क्वालीफायर्स में जो हुआ मैं उसे बदलना चाहता हूं। इस विश्व कप में अफगानिस्तान और वेस्टइंडीज की टीमें चार जुलाई को हेडिंग्ले में आमने-सामने होंगी। यह इन दोनों का आखिरी राउंड रॉबिन मैच होगा।

दवाब की स्थिति में सीनियर खिलाडि़यों का अनुभव काम आएगा: कैरी

मौजूदा चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के विकेटकीपर बल्लेबाज एलेक्स कैरी का मानना है कि आगामी विश्व कप में दबाव के समय टीम के सीनियर खिलाडि़यों का अनुभव काफी महत्वपूर्ण होगा। ऑस्ट्रेलियाई टीम 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में शुरू होने जा रही विश्व कप के लिए शुक्रवार को इंग्लैंड पहुंची है।

दिग्गज रिकी पोंटिंग आगामी विश्व कप में ऑस्ट्रेलियाई टीम के सहायक कोच होंगे। पोंटिंग अपनी कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया को 1999, 2003 और 2007 में विश्व कप खिताब दिला चुके हैं। इसके अलावा टीम का फील्डिंग कोच ब्रैड हैडिन 2015 में विश्व कप विजेता टीम का सदस्य रह चुके हैं।

कैरी ने टीम के यहां आगमन के संवाददाता से कहा कि हमारे पास काफी अनुभव है। ब्रैड हैडिन पिछले विश्व कप में खेल चुके हैं। रिकी पोंटिंग हमारे साथ जुड़ने जा रहे हैं। हमारे पास कई ऐसे खिलाड़ी हैं, जो पिछले विश्व कप में खेल चुके हैं। इन सबके अलावा मौजूदा समय में टीम में कई ऐसे सीनियर खिलाड़ी भी हैं, जो पिछले विश्व कप में टीम का हिस्सा रह चुके हैं, जहां टीम ने खिताब अपने नाम किया था।

इन सीनियर खिलाडि़यों में आरोन फिंच, डेविड वार्नर, मिशेल स्टार्क, स्टीव स्मिथ, पैट कमिंस और ग्लेन मैक्सवेल जैसे खिलाड़ी पिछले विश्व कप में टीम का हिस्सा रह चुके हैं और ये खिलाड़ी इस बार भी टीम में शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि टीम के साथ कई ऐसे खिलाड़ी हैं, जिनके पास काफी अनुभव है और मुझे लगता है कि उनका ये अनुभव उस समय काफी काम आएगा, जब टीम काफी दबाव में होगी। 27 वर्षीय कैरी ने कहा कि टूर्नामेंट के दौरान ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने गेम प्लान पर ध्यान केंद्रित करेगी ना कि विपक्षी टीम की योजना पर। ऑस्ट्रेलिया ने मौजूदा समय में घर बाहर लगातार आठ वनडे मैच जीते हैं।

पाकिस्तान की गेंदबाजी से फिर निराश हूं: अख्तर

पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने इंग्लैंड के खिलाफ यहां पांच मैचों की सीरीज के चौथे मैच में पाकिस्तान के हारने के बाद टीम की गेंदबाजी पर नाराजगी जाहिर की। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए पाकिस्तान ने निर्धारित 50 ओवर में सात विकेट खोकर 340 रन बनाए। इंग्लैंड ने 49.3 ओवर में सात विकेट गंवाकर लक्ष्य हासिल कर लिया। अख्तर ने मुकाबले के बाद ट्वीट किया कि पाकिस्तान एक बार फिर 300 से अधिक के लक्ष्य को बचा नहीं पाई। गेंदबाजी से फिर निराशा हुई।

पाकिस्तान की ओर से बाबर आजम ने 115 रनों की दमदार पारी खेली। गेंदबाजी में मुहम्मद हसनैन और इमाद वसीम को दो-दो जबकि खान, मलिक और हसन अली को एक-एक विकेट मिला। इस जीत के बाद इंग्लैंड ने पांच मैचों की सीरीज में 3-0 की बढ़त बना ली है। पहला मैच बारिश के कारण रद हो गया था।

विश्व कप से पहले क्षेत्ररक्षण में सुधार करना होगा : सरफराज

इंग्लैंड के खिलाफ यहां पांच मैचों की सीरीज के चौथे मैच में हार झेलने के बाद पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद ने माना कि उनकी टीम की क्षेत्ररक्षण अच्छा नहीं रहा, जिसके कारण उन्हें हार झेलनी पड़ी। मैच के बाद सरफराज ने कहा कि हमने बड़ा स्कोर बनाया, लेकिन हमारी गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण शीर्ष स्तरीय नहीं रही। अगर हम कैच कर लेते तो मुकाबले का नतीजा कुछ और होता। हम कड़ी मेहनत कर रहे हैं, लेकिन हमारा क्षेत्ररक्षण का स्तर ऊंचा नहीं है और विश्व कप करीब है।

सरफराज ने कहा कि हमने गेंदबाजी के दौरान कई यॉर्कर चूके, मुहम्मद हसनैन अपना चौथा मैच खेल रहे हैं, तो वह अभी बहुत कुछ सीखेंगे। मुझे उम्मीद है कि इमाम भी ठीक होंगे, उनकी कोहनी में चोट लगी है। सलामी बल्लेबाज इमाम उल-हक को मैच के शुरुआत में चोट लगी जिसके कारण उन्हें मैदान से बाहर जाना पड़ा।

युवराज ने किया विराट को ट्रोल

विराट कोहली मौजूदा समय में टीम इंडिया के कप्तान हैं। एक समय ऐसा भी था जब विराट कोहली भारतीय टीम में सबसे युवा खिलाड़ी थे। उस दौरान उन्होंने युवराज सिंह जैसे खिलाडि़यों से काफी कुछ सीखा था। इन दोनों खिलाडि़यों ने कई बार मिलकर टीम इंडिया को जीत दिलाई है। हालांकि, युवराज सिंह विराट कोहली की कप्तानी में ज्यादा मैच नहीं खेल पाए हैं, लेकिन, अब युवराज सिंह ने विराट को ट्रोल करने का प्रयास किया है। शुक्रवार को कप्तान कोहली ने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट पर कैप्शन के साथ एक फोटो पोस्ट किया, जिसको लेकर उनके सीनियर्स ने उन्हें ट्रोल कर दिया।

कोहली ने अपनी एक सेल्फी फोटो पोस्ट करते हुए लिखा फ्लैशबैकफ्राइडे, क्या आप लोग इस शहर को पहचान सकते हो? विराट की इस तस्वीर में ये शहर भारत का नहीं है। बावजूद इसके युवराज ने एक मजेदार कमेंट किया है। युवराज सिंह ने अपने कमेंट में भज्जी को टैग करते हुए लिखा है कि ये कोटकपुरा लग रहा है, हरभजन सिंह क्या सोचते हो? बता दें कि कोटकपुरा शहर पंजाब का ऐतिहासिक शहर है।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Bhupendra Singh