शिवम् अवस्थी, नई दिल्ली, [स्पेशल डेस्क]। आमतौर पर मीडिया में भारत की सीनियर क्रिकेट टीम की ही चर्चा होती है और इस बार भी नजारा ज्यादातर ऐसा ही है। विराट सेना ने टेस्ट सीरीज में श्रीलंका का सफाया किया तो हर जगह वे सुर्खियों में रहे। वे इसके हकदार भी हैं लेकिन इस बीच हम अपने युवा क्रिकेटरों (अंडर-19) को फिर से भूल गए जिन्होंने इंग्लैंड की जमीन पर गुरुवार को ऐसा कमाल किया जिस पर करोड़ों भारतीय फैंस को गर्व होगा। भारतीय क्रिकेट बोर्ड BCCI वैसे तो भारतीय क्रिकेट की हर बड़ी-छोटी खबर को ट्विटर पर पोस्ट करता है लेकिन इस जीत के बाद उनके ट्विटर अकाउंट पर काफी समय तक कोई संदेश देखने को नहीं मिला। ऐसे में भारतीय क्रिकेट फैंस को इस सफलता से जुड़ी जानकारी मिलनी ही चाहिए। 

- रोमांचक अंदाज में जीत

सबसे पहले बात करते हैं इंग्लैंड के टॉन्टन में हुए वनडे सीरीज के पांचवें और अंतिम मैच की जहां भारतीय अंडर-19 टीम ने इंग्लैंड की अंडर-19 क्रिकेट टीम को रोमांचक अंदाज में मात दी। इस 50-50 ओवर के मुकाबले में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और 50 ओवर में 9 विकेट पर 222 रन बनाए। इस दौरान राजस्थान के राहुल चाहर ने भारत के लिए सर्वाधिक 4 विकेट हासिल किए। जवाब में भारतीय टीम के कप्तान व ओपनर पृथ्वी शॉ ने 52 रनों की धुआंधार पारी से उम्मीद जगाई लेकिन दो सौ का आंकड़ा पार करने से पहले ही भारत ने अपने 6 विकेट गंवा दिए। इसके बाद अचानक भारत को 216 रन पर सातवां झटका जबकि 217 के स्कोर पर एक ही ओवर में आठवां और नौवां झटका भी लग गया। भारत को अब जीत के लिए 26 गेंदों पर कुल 6 रन चाहिए थे लेकिन समस्या ये थी कि सिर्फ एक विकेट बचा था। इंग्लैंड ने दबाव बनाया हुआ था और एक विकेट झटकते ही वो जीत जाते लेकिन ऑलराउंडर कमलेश नागरकोटी (नाबाद 26) ने संयम के साथ बल्लेबाजी करते हुए धीरे-धीरे स्कोर को आगे बढ़ाया और मैच को अंतिम ओवर की दूसरी गेंद तक खींचते हुए लक्ष्य हासिल कर लिया। दिलचस्प बात ये रही कि दूसरे छोर पर खड़े भारत के अंतिम बल्लेबाज इशान पोरेल ने बहुत समझदारी भरी बल्लेबाजी की। इशान ने 9 गेंदों का सामना किया और एक भी रन नहीं बनाया। उनका लक्ष्य सिर्फ नागरकोटी को स्ट्राइक देने पर केंद्रित था और इसी चीज ने भारत को एक विकेट से जीत दिला दी।

- दोनों फॉर्मेट में पूरा सफाया

विराट की सीनियर टीम इंडिया ने श्रीलंका में खेली गई तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 3-0 से जीत हासिल की जबकि भारत की अंडर-19 क्रिकेट टीम का धमाल इससे भी शानदार साबित हुआ है। इस युवा भारतीय टीम ने अंतिम मैच में जीत दर्ज करने के साथ इंग्लैंड को उसी की जमीन पर वनडे सीरीज में 5-0 से मात देकर सीरीज अपने नाम की है। यही नहीं, इससे पहले इसी युवा भारतीय टीम ने इंग्लिश टीम को दो मैचों की टेस्ट सीरीज में भी 2-0 से हरा दिया था। क्रिकेट एक्सपर्ट विभोर कुमार कहते हैं, 'ये वही अंडर-19 भारतीय क्रिकेट टीम है जिससे मौजूदा भारतीय कप्तान विराट कोहली समेत तमाम अन्य दिग्गज क्रिकेटर निकलकर आज शीर्ष तक पहुंचे हैं। इस स्तर पर खिलाड़ियों की हौसलाअफजाई उनके मनोबल को बढ़ाने का काम करती है और ऐसी सफलताओं के बाद ये और जरूरी हो जाता है।'

- कप्तान फिर बना सुपरस्टार, रॉय ने भी दिखाया कमाल

भारतीय अंडर-19 टीम के इस इंग्लैंड दौरे पर भारतीय कप्तान व ओपनर पृथ्वी शॉ का प्रदर्शन लाजवाब रहा है। उन्होंने दो मैचों की टेस्ट सीरीज में सर्वाधिक 250 रन बनाए जिसमें तीन अर्धशतक शामिल रहे। जबकि वनडे सीरीज के पांच मैचों में वो 160 रन बनाकर दूसरे नंबर पर रहे। ये वही पृथ्वी शॉ हैं जिन्होंने चार साल पहले महाराष्ट्र की चर्चित हैरिश शील्ड ट्रॉफी के एलीट डीवीजन मैच में 546 रनों की पारी खेलकर दुनिया को हैरान कर दिया था।

फोटोः शुभम गिल

वैसे, इंग्लैंड में खेली गई इस वनडे सीरीज में शीर्ष पर भी एक भारतीय बल्लेबाज ही रहा। ये बल्लेबाज हैं झारखंड के 17 वर्षीय शुभम गिल जिन्होंने चार मैचों में 278 रन बनाए।

(ये हैं पृथ्वी शॉ की धुआंधार पारी की एक झलक, वीडियो साभारः सोमरसेट क्रिकेट)

वहीं गेंदबाजों में भी भारत का ही दबदबा रहा। झारखंड के 18 वर्षीय गेंदबाज अनुकुल रॉय ने वनडे सीरीज के चार मैचों में खेलते हुए सर्वाधिक 10 विकेट लिए। जबकि टेस्ट सीरीज में भारत के कमलेश नागरकोटी ने दो मैचों में सर्वाधिक 14 विकेट लेकर इंग्लिश टीम को पस्त किया।

यह भी पढ़ेंः एक ही मैच में दोनों टीमों के लिए गेंदबाजी करते हुए इस गेंदबाज ने मचाया धमाल

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Shivam Awasthi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस