PreviousNext

आज तक नहीं हुई अश्विन की इतनी धुनाई, बन गया ये अनचाहा रिकॉर्ड

Publish Date:Sun, 18 Jun 2017 05:58 PM (IST) | Updated Date:Mon, 19 Jun 2017 11:54 AM (IST)
आज तक नहीं हुई अश्विन की इतनी धुनाई, बन गया ये अनचाहा रिकॉर्डआज तक नहीं हुई अश्विन की इतनी धुनाई, बन गया ये अनचाहा रिकॉर्ड
चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ काफी उम्मीदों के साथ उनको शामिल किया गया था लेकिन हुआ कुछ उल्टा ही।

नई दिल्ली, [स्पेशल डेस्क]। रविचंद्रन अश्विन भारत के उन गेंदबाजों में गिने जाते हैं जो पिछले कुछ सालों में हर फॉर्मेट में विरोधी बल्लेबाजों पर भारी पड़े हैं। चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ इसी उम्मीद के साथ उनको शामिल किया गया था लेकिन हुआ कुछ उल्टा ही।

- अश्विन की हालत पस्त

भारतीय टीम ने मैच में पहले फील्डिंग करने का फैसला किया था। कप्तान विराट कोहली को अपने गेंदबाजों पर खूब भरोसा था शायद तभी उन्होंने ये फैसला लिया..लेकिन उनके सबसे खास गेंदबाज अश्विन ने बेहद निराश किया। अश्विन ने मैच में अपने 10 ओवरों में 70 रन लुटाए और इस दौरान उन्हें कोई विकेट भी नहीं मिला। ये वनडे क्रिकेट में अश्विन के सबसे खराब प्रदर्शन में से एक रहा लेकिन इससे भी खराब बात रही कि उन्होंने अपना एक अनचाहा रिकॉर्ड भी दर्ज करा डाला।

- फखर जमान ने की रिकॉर्ड धुनाई

दरअसल, एक वनडे मैच में किसी एक खिलाड़ी के खिलाफ अश्विन का सबसे खराब रिकॉर्ड जिंबाब्वे के ब्रैंडन टेलर के सामने दिखा था। ब्रैंडन टेलर ने एक वनडे मैच में अश्विन की 27 गेंदों पर 42 रन बनाए थे लेकिन चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में रविवार को फखर जमान ने ये रिकॉर्ड तोड़ दिया। जमान ने इस मैच में अश्विन की 33 गेंदों पर 45 रन जड़ डाले। जमान ने मैच में 114 रनों की पारी खेली।

यह भी पढ़ेंः 14 साल बाद पाकिस्तान ने किया ये कमाल, 23वें ओवर तक जारी रहा कहर

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Jagran Special concedes most run in an ODI game against a batsman through Fakhar Zaman(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

14 साल बाद पाकिस्तान ने किया ऐसा, 23वें ओवर तक जारी रहा कहरहार के बाद आया विराट का ये बयान, बताई टीम इंडिया की हार की ये वजह