नई दिल्ली, जेएनएन। टीम इंडिया आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले के लिए इंग्लैंड पहुंच चुकी है और टीम ने अभ्यास भी करना शुरू कर दिया है। 18 जून से होने वाले इस मुकाबले के लिए टीम इंडिया का प्लेइंग इलेवन का चयन करना टीम मैनेजमेंट के लिए बड़ा सिरदर्द होने वाला है और खास तौर से तेज गेंदबाजी को लेकर काफी परेशानी हो सकती है। टीम इंडिया की ट्रायो यानी जसप्रीत बुमराह, मो. शमी और इशांत शर्मा खेलने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं, लेकिम मो. सिराज ने हाल में जिस तरह का प्रदर्शन किया है वो प्लेइंग इलेवन में जगह डीजर्व करते हैं। 

मो. सिराज ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टेस्ट सीरीज में कमाल का प्रदर्शन किया था और भारत की तरफ से सबसे ज्यादा 13 विकेट लिए थे। अब टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय टीम मैनेजमेंट किसी भी तरह से सिराज को प्लेइंग इलेवन में फिट करना चाहती है। वैसे इशांत, बुमराह और शमी की तिकड़ी ने टेस्ट क्रिकेट में भारत की सफलता में बड़ी भूमिका निभाई है। अब ऐसा माना जा रहा है कि, अगर मो. सिराज ने ट्रेनिंग के दौरान प्रभावित किया तो फाइनल मैच के लिए इशांत शर्मा को आराम करने को कहा जा सकता है। सिराज के लिए ऑस्ट्रेलिया दौरा भी काफी अच्छा रहा था और वो काफी अच्छी रिदम में भी दिख रहे हैं। 

वहीं इशांत शर्मा ने इंजरी से वापसी करने के बाद इस साल इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में हिस्सा लिया था और चार मैचों में उन्होंने सिर्फ 6 विकेट लिए थे। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक साउथैंप्टन में न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों के खिलाफ इशांत शर्मा की उच्च तीव्रता पर लंबा स्पेल गेंदबाजी करने और नियमित बाउंसर फेंकने की क्षमता पर संदेह है। वहीं सिराज अच्छे बाउंसर फेंक सकते हैं और लगातार ऐसा कर सकते हैं। जब टीम इंडिया एक साथ प्रैक्टिस शुरू करेगी तब सिराज अंतिम एकादश में जगह बनाने के लिए ऑडिशन देंगे। इशांत शर्मा तेज गेंदबाजी कर सकते हैं, लेकिन नियमित बाउंसर फेंकना इस 32 वर्षीय गेंदबाज के लिए बड़ी चुनौती होगी जो जल्दी ही 33 साल के होने जा रहे हैं। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप