नई दिल्ली। आइपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में पूर्व बीसीसीआइ अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मयप्पन और राजस्थान रॉयल्स के सह मालिक राज कुंद्रा पर आजीवन प्रतिबंध लगाने वाली लोढ़ा कमेटी के महत्वपूर्ण दस्तावेज चोरी हो गए हैं। सुप्रीम कोर्ट के वकील गोपाल शंकर नारायणन की शिकायत पर वसंत कुंज उत्तरी थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। नारायणन लोढ़ा कमेटी के सचिव भी हैं। उन्होंने शिकायत में कहा है कि सेंधमार उनके कार्यालय से सुप्रीम कोर्ट की उच्च स्तरीय कमेटी के महत्वपूर्ण दस्तावेज ले गए हैं। संवेदनशील मामला होने के कारण पुलिस ने कमेटी से भी आंतरिक जांच कर नुकसान का आकलन करने का अनुरोध किया है।

पुलिस के मुताबिक, गोपाल शंकर नारायणन का कार्यालय व आवास वसंत कुंज के बी ब्लाक में है। 19 अगस्त की सुबह उनके निजी सुरक्षा गार्ड ने देखा कि कार्यालय का ताला टूटा हुआ है और आलमारी से महत्वपूर्ण दस्तावेज गायब हैं। इसके बाद पुलिस में शिकायत दी गई। हालांकि पुलिस इस बात से हैरान है कि कोई चोर इतने महत्वपूर्ण दस्तावेज क्यों चुराएगा? फिलहाल सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए जांच की जा रही है। सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली जा रही है। इससे पहले भी उनके कार्यालय में चोरी हो चुकी है।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने आइपीएल-6 स्पॉट फिक्सिंग मामले की जांच के लिए जस्टिस मुद्गल कमेटी बनाई थी। कमेटी की रिपोर्ट के बाद सुप्रीम कोर्ट ने कुंद्रा व मयप्पन को दोषी ठहराया था। इन पर कार्रवाई के लिए पूर्व न्यायधीश जस्टिस लोढ़ा के नेतृत्व में समिति बनाई गई थी। इस समिति ने चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स को दो साल के लिए आइपीएल से और कुंद्रा व मयप्पन पर आजीवन प्रतिबंध लगाया। अभी यह समिति आइपीएल के सीओओ सुंदर रमन पर कार्रवाई और बीसीसीआइ के लिए नियम तय करने पर कार्य कर रही है। महत्वपूर्ण दस्तावेज चोरी होने से लोढ़ा समिति को झटका लगा है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस