नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। इंडियन प्रीमियर लीग के इतिहास में ऐसे ढेरों नाम हैं जिसकी दुनिया इस लीग ने पूरी तरह से बदल दी। आइपीएल 2022 सीजन में दिल्ली के खिलाफ अपना आइपीएल डेब्यू करने वाले तिलक वर्मा भी ऐसा ही एक नाम है जिन्होंने अपने संघर्ष के दम पर अपने सपनों को पूरा किया। इनकी कहानी किसी भी इंसान को प्रेरित करने के लिए काफी है। हैदराबाद में रहने वाले तिलक के पिता के पास इतना पैसा नहीं था कि वो उन्हें ट्रेनिंग दिलवा सके। लेकिन वो कहते हैं न 'जहां चाह, वहां राह' इसलिए कोच सलाम बयाश ने ये जिम्मेदारी उठाई और तिलक की ट्रेनिंग शुरू करवाई।

इतने संघर्षों के बाद आखिरकार तिलक के जीवन में वो पल तब आया जब उन्हें आइपीएल मेगा आक्शन 2022 में बेस प्राइस के 8.5 गुणा ज्यादा कीमत पर मुंबई ने खरीदा। उन्हें मुंबई ने 1.7 करोड़ में खरीदा था। तिलक अंडर-19 विजेता टीम का हिस्सा भी थे। एक वक्त था जब उन्हें टूटे बैट से बल्लेबाजी करनी पड़ती थी लेकिन कोच ने उनकी प्रतिभा को पहचाना और आज क्रिकेट के सबसे बड़ी लीग में उन्हें खेलने का मौका मिला।

तिलक वर्मा ने हालिया अंडर-19 वर्ल्ड कप में 6 मैच खेले जिसमें उन्हें तीन इनिंग में बल्लेबाजी करने का मौका मिला। उन्होंने 86 रन बनाए और उनका सर्वाधिक स्कोर 46 रन था। विजय हजारे ट्राफी में भी तिलक वर्मा का बल्ला खूब चला उन्होंने हैदराबाद के लिए खेलते हुए दिल्ली के खिलाफ शानदार 139 रनों की पारी खेली। उनके टी20 करियर की बात करें तो उन्होंने 15 टी20 मैचों में 143.77 की स्ट्राइक रेट से 381 रन बनाए हैं जिसमें उनका सर्वाधिक स्कोर 75 रहा है। 

उम्मीद है कि जिस शानदार प्रदर्शन के दम पर उन्होंने आइपीएल तक का सफर तय किया है। आइपीएल में भी उनका बल्ला चले और मुंबई के लिए मैन विनर के तौर पर सामने आएं।

Edited By: Sameer Thakur