मेलबर्न, जेएनएन। ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क ने बुधवार को खुलासा किया कि आइपीएल फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) ने उन्हें 2019 सत्र के लिए टीम से मुक्त कर दिया हैं। साल भर पहले कोलकाता नाइट राइडर्स ने मिचेल स्टार्क को आइपीएल की नीलामी में 9.40 करोड़ रुपए की भारी भरकम कीमत देकर खरीदा था। केकेआर के स्टार्क को मुक्त करने के पीछे एक खास वजह हो सकती है।

इस वजह से स्टार्क को किया गया रिलीज़?

स्टार्क ने बताया कि केकेआर फ्रेंचाइजी टीम के मालिकों की तरफ से मैसेज के जरिए यह बताया गया कि टीम को इस सत्र में उनकी सेवाओं की आवश्यकता नहीं है। पिछले साल नीलामी में इतनी बड़ी रकम में खरीदे गए स्टार्क पूरे सीजन पैर में चोट की वजह से एक भी गेंद नहीं फेंक सके थे। इसके बावजूद दिनेश कार्तिक की अगुवाई में टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए प्लेऑफ तक का सफर तय किया था। तो ऐसे में केकेआर के इस अहम निर्णय के पीछे ये सोच हो सकती है कि अगर टीम इस खिलाड़ी के बिना ही बेहतरीन प्रदर्शन कर रही है को फिर इतनी मोटी राशि वाले खिलाड़ी को क्यों ही टीम में रखा जाए। 

ऐसा रहा है स्टार्क का आइपीएल रिकॉर्ड

केकेआर ने जनवरी में स्टार्क को 9.40 करोड़ की मोटी रकम देकर खरीदा था जबकि उनकी बेस प्राइस 2 करोड़ रुपए थी। स्टार्क दाएं पैर में फ्रैक्चर के कारण आईपीएल 2018 में खेल नहीं पाए थे। 2016 में वे चोटिल हुए थे जबकि 2017 में व्यस्तता के चलते उन्होंने नहीं खेलने का निर्णय लिया था।

स्टार्क ने साफ किया है क वह इस सीजन में आइपीएल में किसी दूसरी टीम से खेलने का मन नहीं बना रहें हैं और इस दौरान उन्हें जो आराम मिलेगा उसका फायदा उनकी टीम को आइसीसी वर्ल्ड कप और उसके बाद होने वाली एशेज सीरीज में होगा। उनका कहना है कि अगले साल 6 महीने इंग्लैंड में उनकी टीम को लंबा क्रिकेट खेलना है जिसके लिए वह खुद को तरोताजा रखना चाहते हैं।

अगले साल आइपीएल का आयोजन 29 मार्च से 19 मई तक होना है और इसके बाद विश्व कप का आयोजन 30 मई से होगा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप